अनमोल वचन

अनमोल वचन

कहावत है कि 'अकेला चना भाड नहीं फोड सकता' यह सच है, किन्तु सच यह भी है कि अकेला आदमी संसार में क्रांति ला सकता है। भारत का स्वतंत्रता संग्राम अकेले मंगल पांडे ने आरम्भ किया था। उसकी बटालियन का कोई सिपाही भी उसका साथ देने को तैयार नहीं हुआ, परन्तु दो अंग्रेज अधिकारियों को तलवार से घायल करके जो चिंगारी पैदा की, उसकी ज्वाला ने उसे क्रांति बना दिया। सन् 1857 का स्वतंत्रता संग्राम अंग्रेजों की जडें हिला गया। स्मरण रहे अकेले चलने का अर्थ व्यक्तिवादी, स्वार्थी होना नहीं और अहंकारी बनाना भी नहीं। जहां व्यक्तिवाद और अहंकार पैदा हुआ तो समझो मनुष्य अपने श्रेयपथ से भटक गया। वह गलत काम कर बैठता है, जो उसे पतन की ओर अग्रसर कर देता है। अकेलेपन का अर्थ लोक व्यवहार को तोड बैठना, अपने सामाजिक उत्तरदायित्वों से मुंह मोड लेना, परस्पर सहयोग, सहायता, मेलजोल से हाथ धो बैठना भी नहीं। अकेले स्वत्व का अर्थ है मनुष्य जीवन और संसार में विचरण करने के लिये बाह्य वस्तु, पदार्थों और इसके लोगों की सहायता पर ही अवलम्बित न रहें, वरन इस यात्रा का शक्ति स्रोत अपने अन्तर से बहे। अन्त:प्रेरणा पर चलने वाले ही संसार में सफल होते हैं।

Share it
Share it
Share it
Top