फर्जीवाड़े से नौकरी पाने वाले 49 शिक्षक बर्खास्त

फर्जीवाड़े से नौकरी पाने वाले 49 शिक्षक बर्खास्त

भिंड। मध्यप्रदेश के भिंड जिले में फर्जी दस्तावेजों के जरिए नौकरी पाने वाले 49 शिक्षकों को जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी (सीईओ) सपना निगम ने बर्खास्त कर दिया है। इन शिक्षकों ने साल 2006, 2009 और 2011 में फर्जी दस्तावेजों के दम पर नौकरी ज्वाइन की थी। जिले में यह अब तक की सबसे बडी कार्रवाई है।
जिला शिक्षा अधिकारी एसएन तिवारी ने बताया कि बर्खास्त शिक्षकों पर अब जल्द ही पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कराने की कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा 17 शिक्षकों को दस्तावेज जांच के लिए बुलाया गया है। अगर वे भी फर्जी पाए गए तो उनके खिलाफ भी कार्यवाही की जाएगी।
जिले में वर्ष 2006, 2009 और 2011 में हुई संविदा शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में फर्जीवाड़ा करते हुए कई लोगों ने डीएड की फर्जी मार्कशीट लगाकर वरीयता सूची में 20 अंक ज्यादा हासिल किए थे, जिससे इन्हें शिक्षक की नौकरी मिली थी। इन्हीं में कुछ लोग नौकरी में जाकर डाइट में डीएड की परीक्षा दे रहे थे। वर्ष 2014 में तत्कालीन कलेक्टर एमसिबि चक्रवर्ती की जानकारी में यह बात आने पर उन्होंने जांच शुरु कराई।
तिवारी ने इस बारे में पूरी जांच रिपोर्ट हाईकोर्ट में पेश की है।कलेक्टर इलैया राजा टी ने बताया कि जांच के दौरान 49 शिक्षकों के दस्तावेज फर्जी पाए गए हैं। इन्हें जिला पंचायत सीईओ ने बर्खास्त कर दिया है। यह पहले चरण की कार्रवाई है। दूसरे चरण में और शिक्षकों की जांच की जा रही है। जल्द ही इन पर भी कार्रवाई की जाएगी।

Share it
Top