वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी शर्मा 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस अवार्ड' से सम्मानित

वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी शर्मा


भोपाल- मध्यप्रदेश कैडर के भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के वरिष्ठ अधिकारी मनीष शंकर शर्मा को देश की निजी सुरक्षा एजेंसियों से जुड़ी सर्वोच्च संस्था सेंट्रल एसोसिएशन ऑफ प्राइवेट सिक्योरिटी इंडस्ट्री (कैप्सी) की ओर से प्रतिष्ठित 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस अवार्ड' से सम्मानित किया गया है।

नयी दिल्ली के पीएचडी हाउस में शनिवार की रात्रि में आयोजित गरिमामय समारोह में देश के पूर्व मुख्य न्यायाधीश के जी बालाकृष्णन और पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री शिवराज पाटिल की उपस्थिति मेंशर्मा को सम्मानित किया गया। शर्मा मध्यप्रदेश के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) के रूप में राज्य के निजी सुरक्षा एजेंसियों के नियंत्रक प्राधिकारी के रूप में जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।

यहां प्राप्त आधिकारिक जानकारी के अनुसार कैप्सी के चौदहवें सिक्योरिटी समिट के समापन समारोह में कल रात पहली बार स्थापित 'ईज ऑफ डूइंग बिजनेस अवार्ड' से शर्मा को सम्मानित किया गया। यह अवार्ड देश के सभी राज्यों के नियंत्रक अधिकारियों में से 'सर्वोच्च नियंत्रक प्राधिकारी' के रूप में चयन कर प्रदान किया गया।

देश में वर्तमान में 22 हजार से अधिक निजी सुरक्षा एजेंसियां हैं और सभी राज्यों में वरिष्ठ अधिकारियों को 'नियंत्रक प्राधिकारी' के रूप में नियुक्त किया गया है। मध्यप्रदेश में यह दायित्व शर्मा संभाल रहे हैं और राज्य में एक हजार से अधिक निजी सुरक्षा एजेंसियां संचालित हैं। प्रशस्ति पत्र में कहा गया है कि श्री शर्मा ने निजी सुरक्षा व्यवसाय के प्रति उत्कृष्ट प्रतिबद्धता और सेवाभाव प्रदान किया है।

वर्ष 1992 बैच के आईपीएस अधिकारी शर्मा मध्यप्रदेश के अलावा केंद्र सरकार में प्रतिनियक्ति पर भी अनेक महत्वपूर्ण दायित्व निभा चुके हैं। वे संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में भारतीय प्रतिनिधि के तौर पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने अमरीका में अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा और काउंटर टेरेरिज्म विषय को केंद्रित कर अध्ययन और प्रशिक्षण हासिल किया है।


Share it
Top