सोनीपत में यमुना किनारे यूपी के किसानों से हरियाणा के किसानों की जमीन से कब्जा छुड़वाया

सोनीपत में यमुना किनारे यूपी के किसानों से हरियाणा के किसानों की जमीन से कब्जा छुड़वाया

पुलिस कार्रवाई में 157 झुग्गी-झोपड़ी गिराई गईं, कई हथियार बरामद, 19 महिलाओं समेत 48 लोग गिरफ्तार

सोनीपत। हरियाणा और यूपी के किसानों का यमुना के किनारे की जमीन को लेकर चला आ रहा विवाद अक्सर चर्चाओं में रहता है। कभी हरियाणा तो कभी यूपी के किसान यमुना किनारे स्थित अपनी जमीन को कब्जाने को लेकर एक-दूसरे पर आरोप लगा झगड़ते रहते हैं। कई बार तो इसको लेकर उनके बीच खूनी संघर्ष तक भी हो चुका है। इसी विवाद को लेकर जिला और पुलिस प्रशासन की टीम बुधवार देर शाम सोनीपत यमुना किनारे पहुंची तो वहां पर हड़कंप मच गया। टीम ने यमुना किनारे स्थित भूमि से यूपी के किसानों का कब्जा हटाया। इस दौरान टीम को वहां बनाई गई झुग्गी-झोपड़ियों से कई तरह के हथियार बरामद हुए। इस मामले में वहां से 48 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

हरियाणा के मनाैली-बावतरा गांव के किसानों ने जिला व पुलिस प्रशासन से यूपी के किसानों कब्जा छुड़वाने के लिए कई बार आवेदन कर चुके थे। इसी क्रम में बुधवार को पुलिस बल के साथ प्रशासन की टीम यमुना किनारे पहुंची और वहां स्थित भूमि पर कब्जा कर बनाई गई 157 झुग्गी-झोपड़ियों को हटाकर हरियाणा के किसानों को कब्जा दिलवाया। पुलिस ने सर्च अभियान के दौरान पिस्तौल गोलियां,भाला, जेली, दरांती लाठियां फरसे और ई रिक्शा बरामद कीं। साथ ही 19 महिलाओं समेत 48 को गिरफ्तार किया गया। झुग्गियों पर भारतीय जनता पार्टी का झंडा भी लगा हुआ था।

एसडीएम विजय सिंह ने जब आरोपियों से उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने बताया कि यह जमीन धारा नगर गांव की है। धारा नगर सैकड़ों वर्ष पहले उजड़ गया था। एसडीएम ने आरोपितों से रिकॉर्ड पेश करने का कहा, लेकिन किसी भी प्रकार से कोई राजस्व का रिकार्ड पेश नहीं कर पाए। इसके बाद एसडीएम के आदेश पर आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया। ट्रैक्टर से सभी झुग्गी झोपड़ियां हटा दी गईं। मनौली निवासी ताहर सिंह चौहान, कैलाश नंबरदार, पावसरा निवासी केहर सिंह चौहान ने सरकार का आभार व्यक्त किया है।

उल्लेखनीय है कि मनौली पावसरा व यूपी के किसानों के बीच नौ एकड़ जमीन के कब्जे को लेकर विवाद मई 2018 में शुरू हुआ था, जिसमें यूपी के लोगों पर लाठी-डंडे फरसे से हमला करने का आरोप लगा था। इसमें पावसरा निवासी किसान भागीरथ सुरेंद्र मंडोली गांव के पूर्व सरपंच बृजमोहन चौहान सुधीर अशोक व चरण सिंह घायल हो गए थे। किसान भागीरथ चौहान के बयान पर पुलिस थाना कुंडली में लगभग 30 लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ था। कुंडली थाना प्रभारी रविंद्र कुमार ने बताया कि मनौली-पावसरा गांव के किसानों को जमीन पर कब्जा दिला दिया गया है। यह जमीन राजस्व रिकार्ड में मनौली-पावसरा गांव के किसानों की है। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इस कार्यवाही में एसडीएम अजय सिंह, तहसीलदार विकास कुमार, नायब तहसीलदार हवा सिंह, एसएचओ रविंद्र कुमार, गिरदावर अजीत सिंह पुलिस दल के साथ माैजूद थे।


Share it
Top