देश के हर तबके को खुशहाल देखने की तमन्ना को लेकर गौतम 13 वर्षों से रख रहे रोजा

देश के हर तबके को खुशहाल देखने की तमन्ना को लेकर गौतम 13 वर्षों से रख रहे रोजा


भागलपुर। भागलपुर में हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी अंग महाजनपद की समृद्धि एवं अंग वासियों की प्रगति व उन्नति की कामना को लेकर अंग उत्थान आंदोलन समिति बिहार- झारखंड के केंद्रीय अध्यक्ष सह जस्टिस फॅार विक्टिम फ्रंट के कार्यकारी अध्यक्ष गौतम सुमन ने पाक-ए-रमजान माह का रोजा रखा है। इंसानियत की इस मिसाल को अबकी बार 13वें वर्ष जारी रखकर उन्‍होंने शुक्रवार को 11वें दिन इस माह को सब्र और त्याग का माह बताते हुए लोगों को सर्वप्रथम अपनी जुबान को पाक साफ रखकर मानव सेवा में खुद को समर्पित करने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि ऊंच-नीच व जात-पात को त्याग कर इंसानियत का परिचय देना ही सच्चे भारतीय व मानवता की पहचान है। उन्होंने कहा कि ऊपर वाला उन्हीं के साथ होता है जिनकी जुबान पाक-साफ होती है और ऐसे लोगों पर ही ऊपर वाले रहमतों की बरसात करते हैं। उन्होंने सच्चे हिन्दुस्तान की कल्पना करते हुए अपनी दिली इच्छा को स्वरचित रचना की पंक्ति से दोहराते हुए कहा कि " मस्जिद में रामायण हो, मंदिर में हो कुरान; गुरुद्वारे में घंटी बजी, गिरजाघर में हो अजान तो समझें सच्चा हिन्दुस्तान और भारत देश महान"।

उन्होंने अपने रोजे में रहने के नियम व कायदे को बताते हुए कहा कि इस पाक-ए- माह में वे मुस्लिम भाइयों की तरह ही सुबह उठकर सेहरी खाते हैं और दिन भर हिंदी में कुरान- ए-मजीद पढ़कर लोगों से एक व नेक बने रहने का अनुरोध करते हैं। शाम में मुस्लिम भाइयों की तरह ही वे इफ्‍तार करते हैं। उन्होंने बताया कि दिन में वे अपने हिस्से का भोजन किसी एक गरीब को खिलाते हैं और इस माह में वे अपनी बाल-दाढ़ी व नाखून नहीं कटवाते हैं। पूरे माह गद्दे या सोफे पर नहीं सोकर वे जमीन पर एक चटाई बिछाकर सोते हैं. ईद के दिन अपने लिए कभी वे नए कपड़े नहीं खरीदते बल्कि इस दिन 5 जोड़े नए कपड़े लेकर किसी गरीब मोहल्ले में जाकर गरीब बच्चों को अपने हाथों पहनाकर उसके साथ भोजन करते हैं और इन गरीब बच्चों की खुशी व हंसी को ही वे अपनी ईद मानते आ रहे हैं।


Share it
Top