मध्यप्रदेश: विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव, सरकार का पहला शक्ति परीक्षण

मध्यप्रदेश: विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव, सरकार का पहला शक्ति परीक्षण


भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए आज हो रहे चुनाव के माध्यम से राज्य की कांग्रेस सरकार का शक्ति परीक्षण हो जाएगा। अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस की ओर से श्री एन पी प्रजापति और भाजपा की ओर से श्री विजय शाह को उम्मीदवार बनाया गया है। सदन में आज चुनाव के लिए वोटिंग होने की संभावना है।

कांग्रेस के 114, भाजपा के 109, बसपा के दो, सपा का एक और चार निर्दलीय विधायक हैं। सभी की नजरें चार निर्दलीय और बसपा तथा सपा के तीन विधायकों पर है। हालाकि सरकार बनाने के समय सातों ने कांग्रेस को समर्थन देने का दावा किया था।

इसके पहले आज सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद सबसे पहले भाजपा विधायक श्रीमती यशोधराराजे सिंधिया और श्रीमती मालिनी गौड़ ने शपथ ली। कल 227 विधायकों ने शपथ ग्रहण की थी। प्रोटेम स्पीकर दीपक सक्सेना पहले ही शपथ ले चुके हैं।

नवगठित पंद्रहवीं विधानसभा का पहला सत्र कल शुरू हुआ है। पहले दिन विधायकों को शपथ दिलाने का कार्य शुरू हुआ। आज अध्यक्ष का निर्वाचन है और कांग्रेस तथा भाजपा दोनों ने इसके लिए उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं। हालाकि मुख्यमंत्री कमलनाथ का दावा है कि कांग्रेस प्रत्याशी एन पी प्रजापति की विजय हाेगी।[रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध ,ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप ]

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भाजपा पर कुछ विधायकों को प्रलोभन देकर अपनी ओर करने का आरोप भी लगाया है।


Share it
Top