किशनगंज में मुठभेड़: सिपाही शहीद , एक डकैत ढेर

किशनगंज में मुठभेड़: सिपाही शहीद , एक डकैत ढेर


किशनगंज। किशनगंज में मंगलवार को देे रात पूरबपाली एमजीएम रोड में जूट व्यापारी नंदू अग्रवाल के घर पुलिस और डकैतों के साथ एनकाउंटर में पुलिस का एक जवान शहीद हो गया। जवाबी कार्रवाई में एक डकैत ढेर और तीन डकैत को गिरफ्तार कर लिया गया है। पूर्णिया एसपी विशाल शर्मा ने घटना की पुष्टि कर दी है। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार डकैतों में से दो झारखण्ड के साहेबगंज, एक पूर्णिया और चौथा पश्चिम बंगाल का रहने वाला है। मौके से फरार डकैतों की गिरफ्तारी के लिए सर्चिंग ऑपरेशन तेज कर दिया गया है| सीमावर्ती चेक पोस्ट को अलर्ट कर दिया गया है। किशनगंज टाउन थाना के पूरबपाली पॉवर हाउस के नजदीक जूट व्यवसायी नन्दू अग्रवाल के गोला में दर्जनों डकैतों ने धावा बोल दिया था।

कारोबारी के स्टाफ के शोर मचाने पर उधर से गुजर रही पुलिस की गश्त टीम पर डकैतों ने फायरिंग कर दी। हमले में जवान बिरसा उरांव शहीद हो गया। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने एक डकैत को ढेर कर दिया और तीन डकैतों को खदेड़कर पकड़ लिया। इस बीच डकैतों ने चाकू गोदकर वॉचमैन को गम्भीर रूप से जख़्मी कर दिया है। उसका उपचार जारी है। डकैतों से मुठभेड़ के बाद मौके से दर्जनों देसी बम, कट्टा और अन्य सामान बरामद किए गए हैं। मामले की सूचना मिलते ही पूर्णिया एसपी भी अतिरिक्त बल के साथ मौके पर पहुंच गए| आसपास के इलाकों की नाकेबंदी कर दी गई है। गौरतलब है कि नन्दू अग्रवाल के घर इससे पहले भी दो बार डकैती की वारदात हो चुकी है।


Share it
Top