दो साल पहले दिवंगत हुए पूर्व राज्यपाल रामनरेश यादव अब भी मप्र के मतदाता

दो साल पहले दिवंगत हुए पूर्व राज्यपाल रामनरेश यादव अब भी मप्र के मतदाता


भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व राज्यपाल रामनरेश यादव का करीब दो साल पहले निधन हो चुका है। इसके बावजूद उनका नाम प्रदेश की मतदाता सूची से नहीं हटाया गया है। वे अब भी राज्य की मतदाता सूची में दर्ज हैं और उनका निवास स्थान राजभवन बताया गया है।

बता दें कि मध्य प्रदेश में मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम पिछले करीब छह महीने से चल रहा है। कांग्रेस द्वारा मध्यप्रदेश में फर्जी मतदाता होने की शिकायत के बाद निर्वाचन आयोग ने स्वयं मतदाता सूची के पुनरीक्षण काम को अपनी देख-देख में करवाया और राज्य के निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा गत 31 जुलाई को मतदाता सूची का प्रकाशन करवाया गया था, जिसमें पूर्व राज्यपाल स्वर्गीय रामनरेश यादव का नाम भी शामिल है। बता दें कि रामनरेश यादव आठ सितम्बर 2011 से सात सितम्बर 2016 तक मध्यप्रदेश के राज्यपाल रहे हैं। इसके बाद उनका स्वास्थ्य खराब हो गया और लम्बी बीमारी के बाद 22 नवम्बर 2016 को उनका निधन हो गया। करीब दो साल बाद भी मतदाता सूची से उनका नाम नहीं हटाया जाना निर्वाचन आयोग की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगा रहा है। उनका नाम भोपाल मध्य क्षेत्र क्रमांक-153 की सूची में दर्ज है। उनका वोटर आईडी नमबर-858 तथा एक्सएफडी नम्बर-126421 है। हालांकि, अभी मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम जारी है और शुक्रवार, सात सितम्बर तक मतदाता अपने नाम जुड़वाने-हटाने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इस मामले में मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी बीएल कांताराव का कहना है कि मतदाता सूची का पुनरीक्षण काम जारी है। अब तक करीब 24 लाख मतदाताओं के नाम मतदाता सूची से हटा दिए हैं, जिनमें साढ़े सात लाख मृतक भी शामिल हैं। बाकी मतदाता ऐसे हैं, जिनका या तो पता बदल गया है या फिर दो जगह उनके नाम थे। उन्होंने बताया कि जिन क्षेत्रों में मृतकों और नये मतदाताओं की जानकारी मिल रही है, वहां अभी मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम जारी है। अब पूर्व राज्यपाल का मामला निर्वाचन आयोग की संज्ञान में आया है, तो उनका नाम भी जल्द ही मतदाता सूची से हटा दिया जाएगा।


Share it
Top