'सिस्टर गैंग' की दो महिलाएं गिरफ्तार..ट्रेनों के एसी व स्लीपर बोगियों को बनाती थी निशाना

सिस्टर गैंग की दो महिलाएं गिरफ्तार..ट्रेनों के एसी व स्लीपर बोगियों को बनाती थी निशाना



-दोनों सिस्टर गैंग में काफी समय से थी सक्रिय

-

बक्सर। बक्सर रेल थाना पुलिस ने शनिवार को फरक्का एक्सप्रेस से सिस्टर गैंग में सक्रिय दो महिलाओं को प्लेटफार्म संख्या दो से गिरफ्तार किया। पुलिस ने इनके पास से छह कीमती मोबाइल, नौ हजार नगद रुपये, बारह एटीएम कार्ड, कई पर्स, चाकू व ब्लेड बरामद किया है। गिरफ्तार महिला पूनम व राधा आपस में सगी बहने हैं। दोनों मधेपुरा जिले के बगवाडा गांव की रहने वाली हैं। दोनों सिस्टर गैंग में काफी समय से सक्रिय थी।

बक्सर रेल थाना प्रभारी सूर्यवंश प्रसाद ने बताया कि हाल के दिनों में कटिहार-बरौनी वाया राजेन्द्र नगर-बक्सर रूट की ट्रेनों में इन सिस्टर गैंग गिरोह ने काफी उत्पात मचा रखा है। अच्छे लिबास में गोद में नवजात बच्चों को लेकर मुख्यतः ये एसी-3 व स्लीपर बोगियों को अपना निशाना बनाती हैं। यात्रा के क्रम में यात्रियों से घुलमिल जाना इनकी फितरत है, जहां इसी की आड़ में ये चोरी की घटना को आसानी से अंजाम देती हैं।

प्राथमिक पूछताछ में सिस्टर गैंग की इन महिलाओं ने स्वीकार किया कि इनकी सीमा बक्सर स्टेशन तक ही सीमित थी। बक्सर से आगे यूपी की महिलाएं सक्रिय हैं। किसी भी स्थिति में ये क्षेत्र का अतिक्रमण नहीं करती। इनका एक शेड्यूल है, जिसके तहत इन्हें काम करना पड़ता है। गिरोह की प्रत्येक महिला 18 से 20 घंटे तक ट्रेनों में सफर करती है। गिरोह की मास्टर माइंड एक महिला ही है। पुलिस की गिरफ्त में आई इन महिलाओं ने अपने गिरोह की कुछ अन्य महिलाओं का नाम पता उजागर किया है, जिनकी गिरफ्तारी के लिए रेल पुलिस प्रयास तेज कर चुकी है। गिरोह के सदस्यों की विशेषता है कि ये हमेशा वैध टिकट के साथ होती हैं या पकड़े जाने पर ये आसानी से फाइन भुगतान कर देती हैं।

Share it
Share it
Share it
Top