साक्षी के बाद दीक्षा ने भी परिजनों पर लगाया धमकाने का आरोप

साक्षी के बाद दीक्षा ने भी परिजनों पर लगाया धमकाने का आरोप


भोपाल। उत्तरप्रदेश के बरेली की रहने वाली साक्षी मिश्रा ने अपने प्रेमी अजितेश से शादी करने के बाद एक वीडियो जारी कर अपने परिजनों पर धमकाने का आरोप लगाया था। ऐसा ही एक मामला भोपाल में भी सामने आया है। इलाहाबाद की एक युवती दीक्षा अग्रवाल ने भोपाल आकर अपने प्रेमी से शादी कर ली। इसी मामले को लेकर युवती के परिजन शनिवार को भोपाल आए थे और उसके ससुराल पहुंचकर हंगामा किया था। युवती ने इसके बाद एक वीडियो जारी कर अपने परिजनों पर धमकाने का आरोप लगाया है।

दीक्षा अग्रवाल ने रविवार को सोशल मीडिया पर जारी अपने वीडियो में कहा है कि मैंने रितुराज सिंह राजपूत से गत पांच जुलाई 2019 को पूरे होश में अपनी मर्जी से शादी की है। मैं अपने दादाजी इलाहाबाद के पूर्व महापौर मुरारीलाल अग्रवाल, पिता पवन अग्रवाल, मेरी बुआ, फूफा और अन्य परिजनों से निवेदन करती हूं कि आप आप पुलिस प्रशासन की मदद और राजनीतिक ताकत का इस्तेमाल कर हमें तंग करना बंद दें। मैं बहुत खुश हूं और अपने पति के साथ सुख-चैन से जीना चाहती हूं, इसलिए कृपया मुझे, मेरे पति और ससुराल पक्ष को तंग करना बंद दें। मैं आपसे आग्रह करती हूं कि आप कोई भी धमकियां न दें और यदि भविष्य में हमें कोई भी हानि पहुंचती है, तो इसके लिए आप लोग जिम्मेदार होंगे।

उल्लेखनीय है कि भोपाल के कोलार रोड स्थित राजहर्ष कॉलोनी में रहने वाले बीके राजपूत मंडी बोर्ड में पदस्थ हैं और उनका बेटा ऋतुराज सिंह राजपूत गुजरात के भुज में एक निजी कंपनी में इंजीनियर है। बीके राजपूत ने बताया कि तीन साल पहले ऋतुराज की पहचान इलाहाबाद निवासी दीक्षा अग्रवाल से थाणे (महाराष्ट्र) के एक आश्रम में हुई थी। दोनों में बातचीत शुरू हुई और बात शादी तक पहुंच गई। ऋतुराज गत चार जुलाई को दीक्षा से मिलने इलाहाबाद गया था, लेकिन जब पांच जुलाई को वह वापस लौटा, तो दीक्षा भी उसके साथ थी। इसके बाद दोनों ने शादी कर ली । नगर निगम में उनकी शादी का रजिस्ट्रेशन भी करा दिया गया है।

राजपूत का कहना है कि दीक्षा के दादा मुरारीलाल अग्रवाल, पिता पवन अग्रवाल, बुआ सीमा अग्रवाल, फूफा मनोज अग्रवाल सात जुलाई को कुछ लोगों के साथ उनके घर आए थे और उन्होंने हम लोगों से दुर्व्यहार किया। उनका कहना था कि हम इसी शादी को नहीं मानते, हमें हमारी बेटी लौटा दो। पुलिस भी इसके लिए दबाव बना रही है। इसी बीच शनिवार को पुन: परिजनों ने पुलिस के साथ आकर यहां हंगामा किया और साक्षी को वापस ले जाने की जिद करने लगे। अब इसी मामले में साक्षी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी किया है, जिसमें उसने अपने परिजनों को समझाने का प्रयास किया है, साथ उन पर उसके ससुराल पक्ष को धमकाने का आरोप भी लगाया है। इस मामले में भोपाल डीआईजी इरशाद वली का कहना है कि इलाहाबाद का अग्रवाल परिवार एक बार अपनी बेटी से मिलना चाहता था, इसीलिए वे शनिवार को यहां आये थे, लेकिन राजपूत परिवार ने उन्हें बेटी से नहीं मिलने दिया। फिलहाल, पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

Share it
Top