असम में हिजबुल मुजाहिदीन का संदिग्ध गिरफ्तार

असम में हिजबुल मुजाहिदीन का संदिग्ध गिरफ्तार


होजाई (असम)। हिजबुल मुजाहिदीन नामक आतंकवादी संगठन के साथ संपर्क रखने के आरोप में शनिवार को लंका पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान साइदूल आलम (25) के रूप में की गई है। गिरफ्तार हिजबुल मुजाहिदीन का संदिग्ध मूल रूप से जिले के लंका थानांतर्गत आठ नम्बर उदाली का निवासी बताया गया है। पुलिस उससे गहन पूछताछ करने में जुटी हुई है। सूत्रों ने बताया है कि साइदूल नगांव जिले के प्रमुख स्कूल में पढ़ाई कर रहा था। इस बीच वह पिछले तीन माह से अचानक गायब हो गया था। हाल ही में वह अपने घर पहुंचा था। सूत्रों ने आशंका व्यक्त की है कि साइदूल पिछले तीन माह जम्मू कश्मीर में रहते हुए हिजबुल मुजाहिदीन के संगठन का प्रशिक्षण लेकर लौटा है।

शुक्रवार को भी हिजबुल मुजाहिदीन के एक सहयोगी शाहनवाज आलम को यमुनामुख के नीलबागान इलाके से गिरफ्तार किया गया था। इन दोनों की गिरफ्तारी उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर से यूपी पुलिस की एटीएस द्वारा गुरुवार को गिरफ्तार किए गए कमर्रूजमां से हुई पूछताछ के आधार पर हुई है।

कानपुर में पकड़ा गया कमर्रूजमां मूल रूप से होजाई जिले के जमुनामुख का रहने वाला है। वह गत 2017 से अचानक गायब हो गया था। उसके बाद परिवार वालों ने यमुनामुख और कश्मीर के पुलिस थाने में उसके गायब होने संबंधी प्राथमिकी दर्ज कराई थी। कमर्रूजमां आरंभ में जमुनामुख में एक मोबाइल की दुकान चलाता था। बाद में वह कपड़े का धंधा करने लगा जिसकी वजह से कश्मीर चला गया। वहीं से वह हिजबुल मुजाहिदीन के संपर्क में आया।

कमर्रूजमां की गिरफ्तारी के बाद असम पुलिस की एक टीम उससे पूछताछ के लिए कानपुर पहुंच गई है। सूत्रों ने बताया है कि यूपी एटीएस की टीम अतिशीघ्र असम और मेघालय का दौरा कर दोनों राज्यों में हिजबुल मुजाहिदीन की कड़ियों को तलाशने के लिए आने वाली है। माना जा रहा है कि असम और मेघालय में हिजबुल मुजाहिदीन अपना नेटवर्क तैयार कर लिया है। संभवतः इसकी अगुवाई कमर्रूजमां करता था। उसकी गिरफ्तारी सुरक्षा बलों के लिए बड़ी कामयाबी के रूप में देखा जा रहा है।

सूत्रों ने बताया है कि हिजबुल मुजाहिदीन असम को इस्लामिक स्टेट बनाने का सपना पाले हुए है। इस्लामिक स्टेट के नाम पर हिजबुल मुजाहिदीन असम के युवाओं को बरगलाकर देश के विरुद्ध काम करने के लिए तैयार कर रही है। इतना ही नहीं कुछ युवकों को सोशल मीडिया के जरिए अफवाह फैलाने के लिए भी तैयार कर लिया है। जिसका उदाहरण शुक्रवार को तिनसुकिया जिल में अजीज खान नामक एक युवक द्वारा भगवान राम के विरुद्ध बेहद आपत्तिजनक पोस्ट शेयर करने के रूप में देखा जा सकता है।

शनिवार को गिरफ्तार साइदूल आलम के संबंध में सूत्रों ने बताया है कि वह हिजबुल मुजाहिदीन के लिए पैसे एकत्र करने का काम करता था। सूत्रों ने तो यहां तक दावा किया है कि हिजबुल मुजाहिदीन की असम से बड़े पैमाने पर फंडिंग हो रही है। यही कारण है कि यूपी एटीएस की टीम असम और पड़ोसी राज्य मेघालय में पहुंचकर अभियान चलाने वाली है।


Share it
Top