युग हत्याकांड...तीनों दोषियों को फांसी की सजा

युग हत्याकांड...तीनों दोषियों को फांसी की सजा

शिमला। हिमाचल प्रदेश की एक विशेष अदालत ने आज चार वर्षीय युग के अपहरण और हत्या के मामले में तीनों दोषियों को फांसी की सजा सुनाई। शिमला जिला एवं सत्र न्यायालय के न्यायाधीश वीरेंद्र सिंह ने चंदर शर्मा, तेजेंदर और विक्रांत को सजा-ए-मौत सुनाई। अदालत ने तीनों को छह अगस्त को दोषी करार दिया था। युग 14 जून 2014 को लापता हो गया था। पिता विनोद गुप्ता की शिकायत पर पुलिस ने गुमशुदा की शिकायत दर्ज की थी, लेकिन पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली। बाद में मामले की जांच सीआईडी को सौंपी गई। सीबीआई ने अगस्त 2016 में युग का शव महानगरपालिका की जलटंकी से बरामद किया। सरकारी वकील रणदीप परमार के अनुसार बच्चे की हत्या करने से पहले उसे बुरी तरह टॉर्चर किया गया था तथा उसका शव पत्थर से बांधकर टंकी में डाला गया था, जिससे कि तैरकर ऊपर न आ जाये। उन्होंने कहा कि एक आरोपी का मोबाईल से रिकॉर्ड किया हुआ वीडियो इस प्रकरण का महत्वपूर्ण प्रमाण बना और उसी वीडियो के कारण इस अपराध को रेयरेस्ट ऑफ रेयर अपराध की श्रेणी में मानने में मदद मिली। यह वीडियो आरोपियों ने युग के अभिभावकों से फिरौती मांगने के उद्देश्य से शूट किया था।

Share it
Share it
Share it
Top