सुधा भारद्वाज काे ट्रांजिट रिमांड पर फैसला होने तक उनके घर में ही रखा जाये : उच्च न्यायालय

सुधा भारद्वाज काे ट्रांजिट रिमांड पर फैसला होने तक उनके घर में ही रखा जाये : उच्च न्यायालय

चंडीगढ़ पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने आज आदेश दिया कि गिरफ्तार ट्रेड यूनियन कार्यकर्ता और वकील सुधा भारद्वाज की ट्रांजिट रिमांड पर फरीदाबाद की अदालत में फैसला होने तक उन्हें (भारद्वाज) को बदरपुर स्थित उनके घर पर, जहां से उन्हें गिरफ्तार किया गया है, रखा जाये।

न्यायाधीश ए ए सांगवान के आदेश के मुताबिक भारद्वाज को फरीदाबाद में मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश करने और उनकी ट्रांजिट रिमांड पर प्राथमिकी को देखने व यह देखने के बाद कि मामले में अपराध प्रक्रिया संहिता की धारा 41 (वारंट के बिना किसीको गिरफ्तार करने के आधार को लेकर पुलिस अधिकारी का संतुष्ट होना) और धारा 50 (गैर जमानती अपराध को छोड़कर वारंट के बिना गिरफ्तार करते समय उसे उस पर लगाये आरोप और गिरफ्तारी के आधार की पूरी जानकारी देना और उसे बताना कि वह जमानत पाने का हकदार है तथा मुचलके की व्यवस्था करने का मौका देना) का अनुपालन हुआ है, आदेश पारित होगा तब तक उन्हें वहीं रखा जायेगा जहां से उन्हें सूरजकुंड पुलिस थाने की निगरानी में गिरफ्तार किया गया था यानी हरियाणा में बदरपुर सीमा पर स्थित उनके घर पर ही रखा जाये। अदालत ने महाधिवक्ता को आदेश की प्रति प्रतिवादियों को देने का निर्देश भी दिया ताकि आदेश का पालन हो सके।

हालांकि भारद्वाज के वकीलों ने बताया कि उन्हें फरीदाबाद पुलिस थाने ले जाया जा रहा था और पुलिस यह दावा कर रही थी कि उन्हें अदालत के आदेश की प्रति नहीं मिली है। महाराष्ट्र पुलिस ने भीमा कोरेगांव हिंसा के मामले में आज गिरफ्तार किया है।

Share it
Share it
Share it
Top