...तो फिर सूरज की गर्मी से पसीना नहीं पैसा बरसेगा

...तो फिर सूरज की गर्मी से पसीना नहीं पैसा बरसेगा


मंडी । गर्मी के इस मौसम में जब सूरज जानी दुश्मन सरीखा लगता है, ऐसे में कोई गर आपको सूरज चाचू से दोस्ती गांठ कर मुनाफा कमाने का आइडिया दे तो इसे ऐंवें ही मत लीजिएगा। दरअसल सूरज के ताप से मुनाफा कमाने के इस आइडिया को अपने घर की छत पर सोलर पावर प्लांट लगाकर सच किया जा सकता है। आप घर की छत पर 1 से 10 किलोवाट तक के सोलर पावर प्लांट लगाकर बिजली तैयार कर सकते हैं। इस तरह तैयार बिजली को घर में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा जो घरों में इस्तेमाल से बच जाएगी, यानी आपकी अतिरिक्त उत्पादित बिजली को राज्य बिजली बोर्ड खरीदेगा।

इसकी एवज में राज्य नियामक आयोग द्वारा निर्धारित दरों पर आपको अच्छे-खासे पैसों का भुगतान भी किया जाएगा। हिमऊर्जा मंडी के परियोजना अधिकारी रमेश ठाकुर बताते हैं कि सोलर संयंत्र लगाने के लिए कुल लागत 53,150 रुपए प्रति किलोवाट है । लोगों को घरों की छतों पर सोलर पावर प्लांट लगाने के लिए केंद्र सरकार 70 प्रतिशत और मंडी जिला में अब तक 159 उपभोक्ताओं के सोलर पावर प्लांट लगाए गए हैं, जिसके तहत एक मैगावाट तक के सयंत्र स्थापित किए गए हैं ।

उल्लेखनीय है कि भारत सरकार के नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने हिमऊर्जा को दिस बर, 2019 तक घरेलू उपयोग के लिए 8 मेगावाट क्षमता पूरा करने का लक्ष्य दिया है। हिमऊर्जा अब तक 3858 किलोवाट क्षमता के ग्रिड से जुड़े सोलर पावर प्लांट लगा चुका है। सोलर पावर प्लांट लगवाने के लिए इच्छुक लोग हिमऊर्जा के जिला परियोजना अधिकारी को अपना आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा हिमऊर्जा की वेबसाईट पर भी आवेदन किया जा सकता है। हिमऊर्जा की बैबसाईट पर इस योजना से जुड़ी सारी जानकारी उपलब्ध है।

इधर, उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर का कहना है कि घर की छत पर ग्रिड से जुड़े सोलर पावर प्लांट लागने के लिए लोगों को जागरूक व प्रेरित करने को गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं। अधिकारियों को भी कहा गया है कि वे अपने कार्यालयों की छतों पर सोलर प्लांट लगाकर खुद उदाहरण प्रस्तुत करें ताकि लोग उन्हें देख कर इसके लिए आगे आएं।


Share it
Top