मिस्र में बंदर के यौन शोषण के आरोप में महिला को 3 साल की जेल..पब्लिक में छुआ था बंदर का प्राइवेट पार्ट

मिस्र में बंदर के यौन शोषण के आरोप में महिला को 3 साल की जेल..पब्लिक में छुआ था बंदर का प्राइवेट पार्ट


काहिरा। मिस्र में एक बंदर के कथित यौन उत्पीड़न के आरोप में एक महिला को तीन साल जेल की सजा सुनाई गई है। यह जानकारी रविवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

रिपोर्ट के मुताबिक, गत अक्टूबर महीने में एक वीडियो वायरल हो गया था जिसमें महिला को बंदर के निजी अंगों को छूते हुए दिखाया गया था। इसके के बाद महिला को गिरफ्तार कर लिया गया था और सार्वजनकि जगहों पर अश्लीलता फैलाने का आरोप लगाया गया था। बाद में अदालत ने महिला बस्मा अहमद (25) को तीन साल जेल की सजा सुनाई।

वीडियो के मुताबिक, एक पेट शॉप में महिला बंदर के अंगों को टच कर रही है और हंसती हुई दिखाई देती है। कोर्ट में महिला ने अपना गुनाह स्वीकार किया, लेकिन कहा कि उसका इरादा ऐसा करने का नहीं था। महिला ने यह भी कहा कि एक दोस्त ने वीडियो रिकॉर्ड किया था और बिना उसकी जानकारी के इंटरनेट पर अपलोड कर दिया गया।

90 सेकेंड के इस वायरल वीडियो ने कंजर्वेटिव मुस्लिम देश में बहस छेड़ दी थी। पहले महिला को चार दिनों के लिए हिरासत में लिया गया था, लेकिन बाद में हिरासत 15 दिन तक कर दिया गया था। अधिकारियों ने यह भी कहा है कि महिला ने पहली बार अपराध नहीं किया है, बल्कि इससे पहले भी उस पर अनैतिकता के आरोप लग चुके हैं।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

हालांकि, ताजा फैसले के बाद फिर से बहस शुरू हो गई है। सोशल मीडिया पर कई लोग सवाल पूछ रहे हैं कि बंदर के खिलाफ 'अपराध' पर महिला को सजा देने वाले देश में महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा के मामलों में न्याय क्यों नहीं मिलता है ?


Share it
Top