Read latest updates about "अजब गज़ब" - Page 1

  • व्हाट्सऐप बना वरदान, 18 साल बाद मिला लापता पति

    रायसेन। मध्यप्रदेश के रायसेन जिले में पिछले 18 साल से अपने खोए पति की बाट जोहती एक महिला के जीवन में व्हाट्सऐप वरदान बनकर आया। व्हाट्सऐप पर फैले एक संदेश ने पिछले 18 साल से अपने परिवार से बिछड़े एक व्यक्ति को गुजरात से उसके घर रायसेन जिले के देवरी पहुंचवा दिया। हालांकि इस बीच अपने पति की तलाश में...

  • नहीं मिला साधन तो पीठ पर पति को लाद स्टेशन गयी महिला

    -घूंघट की ओट में पति को पीठ पर लादे पैदल चलते हांफ उठी महिला-बीमार पति के लिये यह महिला बनी सावित्री, हर कोई यह दृश्य देख दंग हमीरपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में अपने बीमार पति को पीठ पर लादकर इलाज कराने के लिये एक महिला को सड़क पर देख आम लोगों की आंखें भर आयी है। घूंघट लिये यह महिला ग्वालियर...

  • निकाह से पूर्व गोद में बच्चे को लेकर पहुंची पत्नी, शादी छोड़कर भागा दूल्हा

    पुलिस ने हंगामा शांत कराते हुए शुरू की कार्रवाई कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में शुक्रवार देर रात एक शादी के दौरान महिला ने बच्चे के साथ पहुंचकर हंगामा काटा। हंगामा करने वाली महिला ने शादी करने वाले युवक को अपना पति बताया और दूसरी शादी करने की करतूत बयां की। यह सुनते ही लड़की पक्ष हैरान रह...

  • शौक पूरा करने के लिए सिरफिरे ने लगा दी सात घरों में आग, बुझाने के लिए खुद पहुंचा

    बर्दवान। दुनियाभर में लोगों के अजीबोगरीब शौक होते हैं लेकिन पश्चिम बंगाल के बर्दवान जिले में पुलिस ने एक ऐसे सिरफिरे को गिरफ्तार किया है जिसने आग लगाने और सबसे पहले बुझाने का अपना शौक पूरा करने के लिए सात घरों में आग लगा‌ दी। न केवल दूसरों के बल्कि उसने अपनी गायों के रहने का ठिकाना भी सबसे पहले जला...

  • सौ साल की हथिनी का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज कराने के प्रयास

    पन्ना। मध्यप्रदेश के प्रसिद्ध पन्ना टाइगर रिजर्व की धरोहर बन चुकी दुनिया की सबसे उम्रदराज मानी जाने वाली लगभग एक साै साल की हथिनी 'वत्सला' का नाम गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज कराने के प्रयास शुरू हो गये हैं। हथिनी वत्सला के जन्म का पूरा रिकॉर्ड केरल प्रान्त के नीलांबुर फारेस्ट डिवीज़न से...

  • बेटियों के नाम से जाना जाएगा बैतूल का ये गांव, लगेगी उनकी नेमप्‍लेट

    बैतूल। मध्यप्रदेश के बैतूल जिले का एक गांव अब अपनी बेटियों के नाम से पहचाना जाएगा। जिला मुख्यालय से करीब 15 किलोमीटर दूर बरसाली गांव के जिस घर में बेटियां हैं, उन घरों के सामने बेटियों को पहचान दिलाने के उद्देश्य से उनके नाम की नेमप्लेट लगाई गई है। पूरे गांव ने एकमत से ये फैसला लिया है और पूरे...

  • इस मंदिर में हर साल बढ़ती है शिवलिंग की ऊंचाई

    खजुराहो (छतरपुर)। अपनी कलाकृतियों के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के खजुराहो में एक मंदिर ऐसा भी है, जहां हर साल शिवलिंग की ऊंचाई में इजाफा दर्ज होता है।खजुराहो में एक समय 85 मंदिर थे, लेकिन अब गिने-चुने मंदिर ही शेष हैं। नौवीं सदी में बने इन मंदिरों में मतंगेश्वर महादेव एक...

  • परना गांव में भगवान के साथ पूजे जाते हैं भगत सिंह और चंद्रशेखर आजाद

    बेगूसराय। अगस्त का महीना आ गया। अब राजनीतिक दल, नेता, प्रशासन, जनप्रतिनिधि एवं कुछेक बुद्धिजीवी लोग अगस्त क्रांति एवं स्वतंत्रता दिवस के नाम पर शहीदों को याद करेंगे। उनकी प्रतिमा पर फूल माला चढ़ा कर कुछ देर भाषण देने बाद फिर एक साल के लिए भूल जाएंगे। लेकिन बिहार के बेगूसराय जिले में एक गांव ऐसा भी...

  • मुज़फ्फरनगर के बुढ़ाना में सांड़ भोले की मौत से शोक की लहर, 3 अगस्त को होगी 'भोले' की तेरहवीं

    बुढ़ाना। मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना के गांव उकावली के ग्रामीणों ने 'भोले' की तेरहवीं करने का निश्चय किया है। ग्रामीणों ने सयुंक्त रूप से तेरहवीं का खर्च उठाने का निर्णय लिया है। जिसके लिए ग्रामीण रूपए, चावल, गेहूं, तेल, चीनी व घी आदि एकत्रित कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि गांव वालों के अलावा आसपास के...

  • हरदोई में शिक्षा की ट्रेन भा गई बच्चों को, वह ज्यादा समय स्कूल में ही गुजारते हैं

    हरदोई । उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में गांव के बच्चों को शिक्षा की ट्रेन कुछ इस कदर भा गई कि वह ज्यादा से ज्यादा समय इसी में ही गुजारना चाहते हैं। इलाके में इसे परियल स्कूल एक्सप्रेस नाम दिया गया है जो एक बेसिक शिक्षा विभाग के प्रधानाध्यापक के जुनून का नतीजा है। जिन्होंने अपने जुनून के चलते...

  • रहस्य-रोमांच: कैसे रूक गयी थी वहां ट्रेन?

    मानो तो शंकर, न मानो तो कंकर। मानो तो गंगा माँ, न मानो तो बहता पानी। मानो तो सच, न मानो तो किस्सा। यह बात ही कही जाती है रहस्य-रोमांच से जुड़ी घटनाओं के बारे में। यह कहानी है एक ऐसे स्थान पर रेलवे स्टेशन के निर्माण की, जहां आज भी काफी-दूर तक मानव बस्ती नहीं है, एक अंग्रेज रेलवे अधिकारी...

  • बाल जगत/जानकारी: उल्काओं का रहस्यमय संसार

    दिन रविवार सत्ताइस नवम्बर सन् 2011, समय शाम साढ़े छह बजे, स्थान दिल्ली के गाँधी नगर के चाँद मुहल्ले का एक घर। घटना, एक दहकता हुआ आग का गोला आकर गिरा जिसे देखने के लिए लोगों का ताँता लग गया। लोग अलग-अलग ढंग से इसकी व्याख्या कर रहे थे। कुछ लोग इसे आतिशबाज़ी समझ रहे थे तो कुछ लोग...

Share it
Share it
Share it
Top