एसबीआई ने न्यूनतम बैलेंस नहीं बनाये रखने पर शुल्क घटाया

एसबीआई ने न्यूनतम बैलेंस नहीं बनाये रखने पर शुल्क घटाया


नयी दिल्ली । भारतीय स्टेट बैंक ने खाते में न्यूनतम बैलेंस से कम पैसे होने पर लगने वाले शुल्क में 75 प्रतिशत तक की कमी करने की घोषणा की है। नयी दरें 01 अप्रैल से लागू की जायेंगी।
बैंक ने आज बताया कि ग्रामीण इलाकों में, जहाँ न्यूनतम बैलेंस एक हजार रुपये है, सबसे ज्यादा 75 प्रतिशत की कटौती की गयी है। पहले इन इलाकों में खाते में जमा औसत राशि न्यूनतम बैलेंस के 50 प्रतिशत तक रह जाने पर 40 रुपये, 25 प्रतिशत तक रह जाने पर 30 रुपये और 25 प्रतिशत से कम होने पर 20 रुपये प्रति माह शुल्क लगता था। अब इन्हें घटाकर क्रमश: 10 रुपये, 7.50 रुपये और पाँच रुपये प्रतिमाह कर दिया गया है।
अर्द्धशहरी इलाकों में न्यूनतम बैलेंस दो हजार रुपये है। इन इलाकों में जमा राशि न्यूनतम बैलेंस के 50 प्रतिशत तक रह जाने पर अब 20 की जगह 7.50 रुपये, 25 प्रतिशत तक रह जाने पर 30 की जगह 10 रुपये और 25 प्रतिशत से कम होने पर 20 की जगह 7.50 रुपये प्रतिमाह शुल्क लगेगा।
महानगरीय और शहरी क्षेत्र में न्यूनतम बैलेंस तीन हजार रुपये है। बैलेंस न्यूनतम बैलेंस के 50 प्रतिशत तक रह जाने पर शुल्क 30 रुपये से घटाकर 10 रुपये, 25 प्रतिशत तक रह जाने पर 40 रुपये से घटाकर 12 रुपये और 25 प्रतिशत से कम होने पर 50 रुपये से घटाकर 15 रुपये प्रति माह शुल्क का प्रावधान किया गया है। बैंक न्यूनतम बैलेंस की सीमा घटाने पर भी विचार कर रहा है, लेकिन अभी इस पर कोई अंतिम फैसला नहीं किया गया है।

Share it
Share it
Share it
Top