यात्री विमान चुराया, उड़ाया और फिर दुर्घटना में मारा गया

यात्री विमान चुराया, उड़ाया और फिर दुर्घटना में मारा गया


सिएटल । विमान कर्मी रिचर्ड रसेल ने शुक्रवार शाम अलास्का एयर ग्रुप के एक 72 सीटों वाले दोहरे इंजन का हैराइजन एयर यात्री विमान चुराया, उसे अनुमति के बिना एक घंटे तक उड़ाया और फिर 25 मील दूर एक द्वीप में दुर्घटना में गिरा दिया। ग्राउंड स्टाफ़ के 29 वर्षीय रिचर्ड रसेल ने दुर्घटना में जान गंवाने से पहले एयर ट्रैफ़िक कंट्रोल से अंतिम क्षणों तक बातचीत करते हुए अनुमति के बिना विमान उड़ाने पर अफ़सोस ज़ाहिर किया।

एयर ट्रैफ़िक कंट्रोल से बातचीत में रसेल ने बताया था कि वह विमान में अकेला था। उसने विमान चलाने की कला वीडियो गेम से सीखी थी। उसके मन में सिएटल की ओलिंपिक पहाड़ियों के बीचों-बीच विमान चलाने की एक धुन सवार थी। एयर ट्रैफ़िक ने विमान चालक को समीप के सैनिक एयर पट्टी पर लैंड करने की सलाह दी थी, लेकिन उसने यह कहकर बात आई गई कर दी कि पकड़े जाने पर सेना उसके साथ बड़ा बुरा सलूक करेगी। यह विमान हैंगर में खड़ा सुरक्षा था। एक सुरक्षा टुकड़ी दुर्घटना स्थल की ओर रवाना हो चुकी है। सिएटल पुलिस ने इसे आत्मघाती क़दम बताया है।

यह ख़बर अमेरिकी मीडिया में दिनभर छाई रही। अमेरिकी सुरक्षा एजेंसी एफबीआई ने इस घटना के पीछे किसी आतंकी आशंका से इनकार किया है, लेकिन साथ ही इसे सुरक्षा कवच में एक बड़ी भूल बताया है। सन् 2001 की 9/11 की घटना के बाद इसे सुरक्षा में बड़ी भूल बताया जा रहा है।

उधर एयर अलास्का के सीईओ ने कहा है कि रसेल के पास विमान सुरक्षा तक जाने का पास तो था, पर उसे उड़ाने की अनुमति नहीं थी। नियमानुसार विमान उड़ाने के लिए लाइसेंस शुदा पाइलट को उड़ान के लिए अधिकृत किया जाता है।


Share it
Top