80 प्रतिशत लड़के जब लड़कियों को देखते हैं तो निगाहें टिक जाती हैं वहां…

80 प्रतिशत लड़के जब लड़कियों को देखते हैं तो निगाहें टिक जाती हैं वहां…

नई दिल्ली। अगर आप कभी किसी लड़की से मिलते हैं तो आप उस लड़की में क्‍या देखते हैं। क्‍या आप उस लड़की का चेहरा देखकर ही बातें करते हैं। अगर आप सच्चाई के साथ जवाब देंगे तो शायद नहीं। दरअसल एक रिपोर्ट के मुताबिक सिर्फ 20 प्रतिशत पुरुष पहली बार किसी लड़की से मिलने पर उसके चेहरे पर ही फोकस रखते हैं। जबकि 80 प्रतिशत पुरुष किसी लड़की से मिलते हैं तो उनकी नजर उनके ब्रेस्ट पर ही जाती है। दरअसल जब भी कोई मर्द किसी खूबसूरत महिला को देखता है तो वो उसकी ओर आकर्षित हो जाता है लेकिन उस महिला के अंदाज़ को जानने के लिए पुरुषों की नज़र उनकी ब्रेस्‍ट पर जाती है। महिलाओं की पर्सनैलिटी को जानने के लिए भी पुरुष ऐसा करते हैं। जब भी पुरुष किसी बड़े बूब्‍स वाली आकर्षक महिला को देखते हैं तो उनके मन में सबसे पहले ख्‍याल आता है कि वह कितनी सेक्‍सी है। ब्रेस्‍ट पर नज़र पड़ते ही पुरुषों का सेक्‍स करने का मन भी करने लगता है। पुरुषों का महिलाओं के बूब्‍स छूने का भी बड़ा मन करता है।
लड़कियों की ब्रेस्‍ट को घूरना पुरुषों की पुरानी आदत है। वो चाहे कितना भी खुद को रोक लें लेकिन उनसे ऐसा हो ही जाता है। कोई छोटी जगह हो या बड़ी-बड़ी कंपनिया मर्द अपनी इस आदत पर कंट्रोल नहीं रख पाते हैं। लड़कों को लड़कियों की ब्रेस्‍ट के बारे में कई तरह की बातें करना पसंद होता है। यहां तक कि कई रिसर्च में भी शोधकर्ताओं ने ये खुलासा किया है‍ कि मर्दों को लड़कियों के ब्रेस्‍ट का साइज़ और आकार प्रभावित करता है। कहते हैं कि महिलाओं की ब्रेस्‍ट पुरुषों को बहुत आकर्षित करती है। जिस महिला का फिगर जितना ज्‍यादा बढिया और मेंटेन होगा उसे पुरुषों से उतनी ही ज्‍यादा तवज्‍जो मिलती है। एक रिसर्च में ये साबित हुआ है कि महिलाओं की ब्रेस्‍ट को निहारने से मर्दों की सेहत बेहतर होती है। रिसर्च के अनुसार महिलाओं की ब्रेस्‍ट को सिर्फ कुछ मिनट ही निहारने से मर्दों की लाइफ कई साल बढ़ जाती है। कई शोधकर्ताओं और डॉक्‍टर्स ने भी इस बात का दावा किया है कि रोज़ दस मिनट महिलाओं के बूब्‍स देखने से मर्दों की लाइफ के 5 साल बढ़ सकते हैं। इसलिए लड़के लड़कियों की ब्रेस्‍ट को घूरते है – भले ही रिसर्च कहती हो कि महिलाओं की ब्रेस्‍ट को देखने से मर्दों की लाइफ बढ़ती है लेकिन इसका मतलब ये बिलकुल नहीं है कोई भी मर्द किसी महिला को बुरी नज़र से देखे या उसकी ब्रेस्‍ट या अन्‍य किसी अंग पर कमेंट करे। ये सिर्फ एक रिसर्च का परिणाम है जो पुरुषों की मानसिकता को जानने के लिए किया गया है।

Share it
Share it
Share it
Top