31 अगस्त 2016, बुधवार

31 अगस्त 2016, बुधवार

भाद्रपद 9 शक संवत 1938, भाद्रपद कृष्ण 14 विक्रमी संवत 2073, सौर मास भाद्रपद की 16 प्रविष्टे। जिल्काद (मुस्लिम) महीने की 27 तारीख हिजरी साल 1437 तदनुसार 31 अगस्त, 2016 बुधवार दक्षिणायन शरद ऋतु।
चतुर्दशी अपरान्ह 2.03 तक परम अमावस्या तिथि। आश्लेषा नक्षत्र पूर्वान्ह 9.48 तक तदुपरांत मघा नक्षत्र का आरम्भ। परिध योग प्रात: 8.28 तक तदनंतर शिव योग का प्रारम्भ। शकुनि करण अपरान्ह 2.03 तक पश्चात चतुष्पद करण। चन्द्रमा प्रात: 9.48 से सिंह राशि में संचार करेगा। सूर्योदय 5.59 पर तथा सूर्यास्त 18.40 पर होगा। राहू तथा प्रह्रार्धकाल 12.21 से 13.56 तक।
मेष: शासन-सत्ता का सहयोग मिलेगा। लम्बित कार्य पूरे होंगे। सामाजिक कार्यों में भागीदारी होगी। पारिवारिक सुख सहयोग की प्राप्ति होगी।
वृष: कारोबार में प्रगति होगी। धन का लाभ होता रहेगा। स्नेहीजनों का सहयोग उत्साह बढायेगा। विरोधी परास्त होंगे। नया काम बनेगा।
मिथुन: कारोबार में तरक्की होगी। धनागम के प्रयास सार्थक होंगे। अनुबन्धों की पूर्ति होगी। परिजन सहयोग करेंगे। यात्रा सफल रहेगी।
कर्क: कार्य-व्यवसाय में सफलता मिलेगी। नई योजनाओं की सफलता उत्साह बढायेगी। सामाजिक दायित्वों की पूर्ति होगी। नया काम बनेगा।
सिंह: प्रात: समय अनुकूल नहीं है। धैर्य बनाये रखें। पूर्वान्ह से परिस्थितियां अनुकूल होती जायेगी। राहत महसूस होगी। रूके कार्योँ में प्रगति होगी। उतावली न दिखायें।
कन्या: प्रात:काल का समय अच्छा है। अच्छे कार्यों में सदुपयोग करें, आपके लिए हितकारी रहेगा। पूर्वान्ह से समस्याएं पैदा होनी आरम्भ हो जायेगी। अनचाहे व्यय प्रसंग चिंता बढायेंगे। सायंकाल यात्रा न करें।
तुला: कोर्ट-कचहरी के कार्यों में सफलता मिलेगी। वाकपटुता सम्मान दिलायेगी। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। सामाजिक दायित्वों की पूर्ति होगी।
वृश्चिक: कारोबार में तरक्की होगी। धन का लाभ होगा। मित्रों का सहयोग तथा सानिध्य प्राप्त होगा। शुभ समाचार मिलेंगे। नया काम बनेगा।
धनु: मन उदास रहेगा। उपलब्धियों में न्यूनता के कारण खिन्नता रहेगी। पूर्वान्ह में परिस्थितियों में सुधार महसूस होगा। राहत का अनुभव होगा फिर भी कोई कार्य जल्दबाजी में न करें।
मकर: प्रात:काल का समय अनुकूल है। अच्छे कार्यों में सदुपयोग करें। सफलता मिलेगी। पूर्वान्ह से समस्याओं का क्रम बनेगा। सुनिश्चित करके ही किसी नये कार्य में हाथ डाले। सायंकाल तथा उसके बाद यात्रा न करें।
कुम्भ: प्रात:काल का समय अनुकूल नहीं है। धैर्य से समय गुजारे। पूर्वान्ह से परिस्थितियों में अनुकूलता आयेगी। राहत का अनुभव होगा। यात्रा सफल रहेगी। सामाजिक कार्यों में भागीदारी होगी।
मीन: प्रात:काल का समय सफलतादायक है सदुपयोग करें। पूर्वान्ह से कुछ समस्याओं से सामना होगा। कार्य बाधित होंगे। व्यय के प्रसंग भी आयेंगे। सायंकाल यात्रा न करें।
प्रणपाल सिंह राणा
22/7, गांधी कालोनी, मुजफ्फरनगर

Share it
Share it
Share it
Top