2016 में स्मृति, जावडेकर, कन्हैया छाये रहे शिक्षा जगत में …!

2016 में स्मृति, जावडेकर, कन्हैया छाये रहे शिक्षा जगत में …!

नयी दिल्ली – वामपंथी छात्र नेता कन्हैया कुमार और अन्य छात्रों द्वारा जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में कथित रूप से राष्ट्र विरोधी नारे लगाये जाने की घटना, नयी शिक्षा नीति तैयार करने के लिये बनी सुब्रमण्यन समिति की रिपोर्ट का लीक होना और स्मृति ईरानी को हटाकर प्रकाश जावडेकर का मानव संसाधन विकास मंत्री बनाया जाना इस वर्ष शिक्षा जगत में चर्चा के केंद्र रहे।
फरवरी में जेएनयू में भारत विरोधी नारे लगाने के आरोप में कन्हैया कुमार, उमर खालिद तथा कई अन्य छात्रों के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किये जाने से पूरे देश में हंगामा खड़ा हो गया और देशभक्ति तथा देशद्रोह की परिभाषा को लेकर भी विवाद हुआ।
भारतीय जनता पार्टी एवं वाम दल समर्थक छात्र संघ के छात्रों के बीच काफी टकराव बढ़ गया जिससे देश के कई विश्वविद्यालयों के परिसरों में तनाव भी पैदा हुआ और आन्दोलन के कारण छात्रों की पढ़ाई प्रभावित रही।
इसी के साथ जेएनयू में दो गुटों में झगड़े के बाद छात्र नजीब अहमद के रहस्मय परिस्थिति में गायब होने का मुद्दा भी सुर्खियों में रहा।
पुलिस द्वारा ढ़ूढ़ने के भरसक प्रयास करने के बावजूद नजीब का अब तक पता नहीं लग पाया है।
फरवरी में ही श्री सुब्रमण्यन को नयी शिक्षा नीति तैयार करने के लिए समिति का अध्यक्ष बनाया गया और जब इस तीन सदस्यीय समिति ने रिपोर्ट सरकार को सौंपी तो उसकी रिपोर्ट मीडिया में लीक हो गयी जिससे श्रीमती ईरानी के साथ उनका टकराव हो गया।
दोनों ने एक दूसरे का नाम लिए बिना एक दूसरे पर हमले भी किये और श्रीमती ईरानी ने कहा कि इस रिपोर्ट को अभी सार्वजानिक नहीं किया जायेगा क्योंकि अन्य राज्यों की राय अभी मंत्रालय को प्राप्त नहीं हुई है।
कन्हैया और नयी शिक्षा नीति के विवाद थमे भी नहीं थे कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने श्रीमती ईरानी को हटाकर उनकी जगह श्री प्रकाश जावडेकर को नया मानव संसाधन विकास मंत्री बनाया।
श्री जावडेकर ने जुलाई में अपना पद भार ग्रहण किया।
मीडिया में इस फेर बदल को श्रीमती ईरानी की कार्यशैली के खिलाफ उठाये गये कदम के रूप में पेश किया गया।
इस तरह पूरे वर्ष ये तीनों मुद्दे मीडिया में छाये रहे।
श्रीमती ईरानी ने शुरू के छह महीने में शिक्षा के क्षेत्र में अनेक कदम उठाये तो शेष छह महीने में श्री जावडेकर ने कई काम किये।
-अरविन्द कुमार 

 

Share it
Top