18 लाख साल पहले भी कैंसर पीड़ित थे इंसान

18 लाख साल पहले भी कैंसर पीड़ित थे इंसान

लंदन।  आज से 16 से 18 लाख साल पहले के इंसान के पैर की एक हड्डी के कैंसर ग्रसित होने के प्रमाण मिले हैं, जिससे पता चलता है कि कैंसर आधुनिक युग का अभिशाप नहीं है बल्कि इससे हमारे पूर्वज भी जूझ रहे थे। आधुनिक मानव के पूर्वज ‘होमिनिन’ लाखों वर्ष पहले दक्षिण अफ्रीका में रहते थे। दक्षिण अफ्रीका में विश्व धरोहर में शामिल स्वार्टक्रांस में 1960 से 1980 के बीच की गयी खुदाई के दौरान एक ‘होमिनिन’ के पैर की हड्डी मिली थी।
यह हड्डी पैर के अंगूठे से तलवे की आेर जाती ‘मेटाटार्सल’ थी। उस वक्त हड्डी में कैंसर का पता नहीं चला लेकिन जब इसकी जांच अमेरिका के फ्लोरिडा में शोध कर रहे एक छात्र ने की, तो इसका पता चला। उस वक्त लेकिन उसे ओस्टेव्याड ओस्टियोमा नामक ट्यूमर माना गया। बाद में दक्षिण अफ्रीकी न्यूक्लियर एनर्जी काॅरपोरेशन के दो वैज्ञानिकों ने इस हड्डी को हाई रिजोल्यूशन एक्स-रे तकनीक की दृष्टि से देखा और उसके आधार पर अपना शोध लिखा।
स्वास्थ्य के लिए जरूरी है हर घंटे पांच मिनट का ब्रेक
उन्होंने हड्डी को खंडों में विभाजित करते उसकी स्कैनिंग की और जोहान्सबर्ग के यूनिवर्सिटी ऑफ विटवाटरस्रैंड की दूसरी टीम ने स्कैन को त्रिआयामी रूप दिया। त्रिआयामी तस्वीर से पता चला कि हड्डी में कोई ट्यूमर नहीं है बल्कि कैंसर है।
हांलाकि शोधकर्ताओं को पता नहीं चल पाया है कि होमिनिन हड्डी के कैंसर के किस प्रकार से ग्रसित थे। कल प्रकाशित इस शोध से पता चलता है कि कैंसर जीवनशैली में आये बदलाव या प्रदूषण के कारण नहीं होता है।

Share it
Top