सुप्रीम कोर्ट के 15 जजों की समर छुट्टियां हुई कम, अहम मामलों की करनी होगी सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट के 15 जजों की समर छुट्टियां हुई कम, अहम मामलों की करनी होगी सुनवाई

नई दिल्ली। पहली बार शायद सुप्रीम कोर्ट के जजों की गर्मा की छुट्टियों को काटा गया हैै। सुप्रीम कोर्ट में 15 जज अहम मामलों की सुनवाई करेंगे। इनमें से एक ट्रिपल तलाक का मामला, आधार और व्हाट्सएप से जुड़े विषय भी शामिल हैं।अब तक गर्मियों की छुट्टियों में दो जजों की एक बेंच सुनवाई के लिए उपलब्ध होती थी, लेकिन ऐसा पहली बार होगा जब 28 में से 15 जज अपनी छुट्टियां छोड़कर अदालत में मामलों की सुनवाई कर फैसले सुनाएंगे। जानकारी के अनुसार चीफ जस्टिस जेएस खेहर ने बाताया कि उन्होंने तीन अलग-अलग खंडपीठों का गठन किया है जो गर्मी की छुट्टियों में मामले को देखेगी। यह पीठ 11 मई से शुरू होने वाली छुट्टियों में काम करेगी और जरूरत होने पर शनिवार-रविवार को भी बैठेगी। अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने छुट्टियों के दौरान तीन संविधान पीठों के गठन पर आपत्ति जतायी है।
बैंकों में 1 अप्रैल से लागू होंगे नए रूल्स, तीन से ज्यादा ट्रांजैक्शन किए तो पैसे कटेंगे
उन्होंने कहा कि यह पूरी छुट्टियों का समय ले लेगा।  उनकी चिंता पर जवाब देते हुए मुख्य न्यायाधीश खेहर ने कहा कि अगर आप कहते हैं कि आप छुट्टियों के दौरान इसे नहीं करना चाहते हैं, तो हमें जिम्मेदार मत ठहराइए। सुप्रीम कोर्ट का 50 दिन लंबा समर ब्रेक हमेशा से जुडिशरी के आलोचकों के निशाने पर रहा है। ऐसा तब है, जब आधे दशक पहले तक लंबित मामलों की संख्या 60 हजार के पार पहुंच गई थी। अब भी ऐसे ही हालात हैं। ऐसे में चीफ जस्टिस जेएस खेहर और जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ की बेंच ने एक नई पहल की है।

Share it
Share it
Share it
Top