100 वें ऊषा महिला एमच्योर गोल्फ टूर्नामेंट में उतरेंगी शीर्ष गोल्फर

100 वें ऊषा महिला एमच्योर गोल्फ टूर्नामेंट में उतरेंगी शीर्ष गोल्फर

golfनई दिल्ली। 100वीं ऊषा महिला एमच्योर गोल्फ चैंपियनशिप का आयोजन यहां दिल्ली गोल्फ क्लब में 12 से 18 दिसंबर तक किया जाएगा जिसमें दीक्षा डागर, त्वेसा मलिक, सिफात सागू और अनिका वर्मा सहित देश की शीर्ष गोल्फर हिस्सा लेंगी।
एक सप्ताह तक चलने वाले इस टूर्नामेंट में दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका, सिंगापुर, मलेशिया, थाईलैंड, बंगलादेश, ईरान और स्कॉटलैंड की गोल्फर भी हिस्सा लेंगी। इस टूर्नामेंट की गत चैंपियन गौरिका बिश्नोई और 2012 तथा 2014 की अदिति अशोक अब प्रोफेशनल बन चुकी हैं। इस टूर्नामेंट ने इन गोल्फरों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचने का ऐसा मंच प्रदान किया जिससे भारतीय महिला गोल्फ अब एक नई पहचान बना चुका है। त्वेसा मलिक, सिफात सागू, अमृता आनंद, सेहर अटवाल, अनिका वर्मा और रिद्धिमा दिलावरी जैसी महिला गोल्फर इस टूर्नामेंट में खिताब के लिए अपनी चुनौती पेश करेंगी। ओलंपियन गोल्फर अदिति ने 13 और 15 वर्ष की उम्र में 2012 और 2014 में यहां खिताब जीते थे। अदिति इसी वर्ष पेशेवर गोल्फर बनी हैं और उन्होंने इंडियन ओपन तथा कतर ओपन के रूप में दो महिला यूरोपियन टूर खिताब जीते हैं। दिल्ली गोल्फ क्लब के अध्यक्ष सिद्धार्थ श्रीराम ने कहा कि अदिति अशोक का लगातार दो टूर्नामेंट जीतना और शीर्ष रैंक हासिल करना हमारे लिए बहुत बडी कामयाबी है। मुझे वह समय याद है जब वह 12 वर्ष की उम्र में दिल्ली गोल्फ क्लब में खेलती थी और अब वह एक बड़ी चैंपियन बन गई है। मुझे विश्वास है कि ऊषा अखिल भारतीय महिला एमेच्योर चैंपियनशिप से और प्रतिभाएं निकलकर सामने आएंगी। भारतीय गोल्फ संघ के अध्यक्ष सतीश अपराजित ने कहा कि हम इस चीज से बेहद खुश हैं कि ऊषा एमेच्योर गोल्फ टूर्नामेंट का यह 100वां संस्करण है। भारतीय महिला गोल्फ के लिए यह एक बहुत बड़ी कामयाबी है। पिछले कुछ समय में महिला गोल्फरों ने शानदार प्रदर्शन किया है। हमें उम्मीद है कि आने वाले समय में ऐसे ही और टूर्नामेंट देखने को मिलेंगे। टूर्नामेंट 12 से 18 दिसंबर तक होगा और 36 होल के स्ट्रोक प्ले के बाद क्वालीफाई करने वाली 32 खिलाड़ी ऑल इंडिया मैच प्ले में खेलेंगी।

Share it
Top