होली तेरे रूप अनेक..रोम में ‘रेडिका’ नाम से यह त्योहार मनाया जाता है मई में ..!

होली तेरे रूप अनेक..रोम में ‘रेडिका’ नाम से यह त्योहार मनाया जाता है मई में ..!

 आपको यह जानकर आश्चर्य की अनुभूति होगी कि रंगों का पर्व होली केवल हमारे देश भारत में ही नहीं अपितु विदेशों में भी मनाया जाता है। हां विदेशों में होली मनाने के रंग ढंग हमसे कुछ भिन्न जरुर हैं किन्तु वहां भी इसी उत्साह व उमंग से होलियां मनाई जाती हैं। आइए होली के मौके पर आपको अन्य देशों में मनाई जाने वाली होलियों की जानकारी दें।
– रोम
रोम में ‘रेडिका’ नाम से यह त्योहार मई में मनाया जाता है। इसमें किसी ऊंचे स्थान पर काफी लड़कियां इकटठी कर ली जाती हैं और उन्हें जलाया जाता है। इसके बाद लोग झूम-झूम कर नाचते हैं और खुशियां मनाते हैं। इस अवसर पर आतिशबाजी के खेल खेले जाते हैं।
– फ्रांस
फ्रांस के लोग बेहद उत्साह से होली खेलते हैं और प्रतिवर्ष 13 अप्रैल को फ्रांसीसी लोग काफी हुड़दंग मचाते हैं और एक दूसरे पर रंग बिरंगे गुलाल मलते हैं। वहां जो भी होली के हुड़दंगियों से बचने की कोशिश करता है, उसके मुंह पर भैंस की आकृति बना सारे में घुमाया जाता है। इस त्योहार को फ्रांस में ‘मूर्खो का त्योहार’ कहते हैं।
– अमेरिका

अमेरिका में एक त्योहार मनाया जाता है ‘होनो’। इस दिन दुनिया भर का फूहड़पन अमेरिका में देखा जा सकता है। उस दिन होनो के लोगों की एक सभा होती है। उन सभा में जाने के लिए जो पोशाक पहनी जाती है, उसमें किसी की शर्ट का बटन पीछे की ओर होता है तो किसी की पतलून की एक टांग गायब होती है। किसी के एक पैर में जूता होता है तो दूसरे पैर में चप्पल। चेहरे पर ऐसा मेकअप किया जाता है कि खुद होनो के घर वाले भी नहीं पहचान पाएं और इस सभा में जो सर्वाधिक बेहूदगी करता है, उसकी प्रशंसा की जाती है और अन्य होनोओं द्वारा उसे पुरस्कृत भी किया जाता है।
कम उम्र में ही दांत छोड़ रहे साथ

अमेरिका के कोलोडो विश्वविद्यालय के छात्र और छात्राएं भी वर्ष में एक बार गीली मिट्टी और कीचड़ की होली खेलते हैं। वहां इस त्योहार को ‘मडेफो’ कहा जाता है। मडेफो के दिन विश्वविद्यालय के छात्र छात्राएं अलग-अलग समूहों में वहां के नदी तट पर पहुंचते हैं। उनके साथी नदी तट पर उनसे पहले ही पहुंच जाते हैं और छात्रों के समूहों के लिए गीली मिट्टी के गोले तैयार रखते हैं। उन गोलों में कई तरह के रंग भी मिले रहते हैं। दोनों छात्रों के समूह वहां पहुंच कर एक दूसरे पर मिट्टी के गोले फेंकते हैं।
– यूनान

यूनान में ‘मेमोल’ नाम से एक त्योहार मनाया जाता है। इस उत्सव में एक खम्भा गाड़ा जाता है और उसके आसपास ढेरों लकडिय़ां एकत्र कर उनमें आग लगा दी जाती है। इस दिन लोग अपने देवता ‘डायनोसिय’ की पूजा कर जमकर शराब पीते हैं।
– बेल्जियम
यहां कुछ स्थानों पर एक ऐसा त्योहार मनाया जाता है जिसमें पूराने जूते मिलकर हंसी मजाक करते हैं जो व्यक्ति इस उत्सव में शामिल नहीं होते, उनका मुंह रंग कर उन्हें गधा बनाया जाता है और उनका जुलूस निकाला जाता है।
– इटली
इटली में होली का प्रतिरुप त्यौहार ‘बेलिया कोनोन्स’ के नाम से मनाया जाता है। इस दिन छोटे बड़े सभी एक दूसरे पर सुगंधित जल छिड़कते हैं और उन्हें घास के बने आम भेंट करते हैं। यहां पर होली काफी शालीनता से मनाई जाती है। अन्न की देवी को खुश करने के लिए तथा खेती की उन्नति के लिए शाम को बिलकुल भारत की तरह लोग लकडिय़ां एकत्र कर जलाते हैं। इस मौके पर आतिशबाजी करने की प्रथा भी वहां प्रचलित है।
क्या मिश्र के पिरामिड अभिशप्त हैं?

– बर्मा
यहां होली को ‘तैच्चा’ कहा जाता है। वहां पर यह पर्व चार दिनों तक मनाया जाता है। इन चारों दिनों में बच्चे बड़े सभी राह चलते लोगों पर पिचकारियों से रंग डालते हैं। पर्व के अवसर पर एक दिन का राष्ट्रीय अवकाश भी होता है।
– चीन
चीन में लोकप्रिय पर्व ”च्वेजे” के दिन से एक पखवारे तक खुशियां मनाई जाती है और रंगों से खेला जाता है। वहां वह पर्व बसंत के बाद प्रारम्भ होता है और हर चीनी इसमें बड़े उत्साह से हिस्सा लेता है।
– जापान
जापान में भी हंसी मजाक का यह त्योहार नई फसल के स्वागत के रुप में मनाया जाता है। मार्च के महीने से मनाये जाने वाले त्योहार में जापान निवासी बड़े उत्साह और उमंग से भाग लेते हैं और अपने नाच गाने तथा आमोद प्रमोद से वातावरण को बड़ा आकर्षक तथा मादक बना देते हैं।
इन देशों के अलावा भी अन्य अनेक देशों में अलग-अलग अंदाज से होली मनाई जाती है। सचमुच यह जानना कितना रुचिकर है कि होली एक अंतर्राष्ट्रीय त्योहार है।
– नवरतन शर्मा

Share it
Top