हर जवान पर एक थप्पड़ के बदले में 100 जिहादियों को मारो: गंभीर

हर जवान पर एक थप्पड़ के बदले में 100 जिहादियों को मारो: गंभीर

नयी दिल्ली। अपने बेबाक अंदाज के लिये सुर्खियों में रहने वाले कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान गौतम गंभीर और अपने चुटीले कमेंट्स के लिये मशहूर वीरेन्द्र सहवाग ने कश्मीर में आजादी के नारे लगाने वालों और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल(सीआरपीएफ) के जवानों पर पत्थरों से हमला करने वाले कश्मीरी युवाओं पर करारा हमला बोलते हुये कहा है कि ऐसे लोगों को देश छोड़कर चले जाना चाहिये। गंभीर ने देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त लोगों और आजादी की मांग करने वाले युवाओं को भी जमकर लताड़ा और कहा कि किसी एक भारतीय जवान को पहुंचने वाली चोट के बदले में 100 जिहादियों को मौत के घाट उतारा जाना चाहिये। दिग्गज बल्लेबाज गंभीर ने अपने ट्विटर पर लिखा “हमारे प्रत्येक जवान के चेहरे पर पड़ने वाले थप्पड़ के बदले में कम से कम 100 जिहादियों की जान ली जानी चाहिये। जो भी आजादी चाहते हैं वे देश छोड़कर चले जाएं।
कश्मीर हमारा है। ” 34 वर्षीय गंभीर ने कहा“ भारत विरोधी लोगों को यह नहीं भूलना चाहिये कि हमारे झंडे में चार रंग हैं जिसमें केसरिया रंग हमारे गुस्से की आग, सफेद जिहादियों के कफन, हरा आतंक के खिलाफ नफरत का रंग है। ” गंभीर के साथ ही सहवाग ने भी अपने गुस्से का इजहार करते हुए कहा,“ यह अस्वीकार्य है। हमारे सीआरपीएफ जवानों के साथ ऐसा नहीं किया जा सकता। इन हरकतों को रोका जाना चाहिये। बद्तमीजी की हद है। ” गौरतलब है कि गंभीर और सहवाग के ये बयान ऐसे समय आये हैं जब एक दिन पहले ही सीआरपीएफ जवान का एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें गुस्सैल भीड़ ने श्रीनगर में पोलिंग बूथ से वापिस लौट रहे एक सीआरपीएफ जवान पर हमला कर दिया। वीडियो में देखा जा सकता है कि कश्मीरी युवा उस जवान के चेहरे पर थप्पड़ मार रहे हैं और उसे लात घूंसे भी मार रहे हैं।

Share it
Top