सौंदर्य वृद्धि के लिए त्वचा की देखभाल जरूरी

सौंदर्य वृद्धि के लिए त्वचा की देखभाल जरूरी

हालांकि सौंदर्य प्राकृतिक देन है लेकिन शरीर की त्वचा की नियमित देखभाल से सौंदर्य में वृद्धि की जा सकती है। इसके लिए बाजार में बिकने वाले कीमती सौंदर्य प्रसाधनों की अपेक्षा घरेलू सौंदय प्रसाधनों का अधिक उपयोग करना चाहिए क्योंकि बाजार में मिलने वाले यह कीमती सौंदर्य प्रसाधन असमय ही आपको बुढ़ापे की ओर धकेल देंगे।
ये शरीर की त्वचा पर खतरनाक प्रभाव डालकर शरीर की त्वचा की प्राकृतिक नमी को चुरा लेते हैं जो त्वचा के लिए परम आवश्यक है। इस कारण घरेलू प्रसाधनों का इस्तेमाल लाभप्रद रहता है। हम कुछ उपयोगी घरेलू नुस्खे बता रहे हैं जो आपकी त्वचा की देखभाल में बहुत ही उपयोगी सिद्ध होंगे-
बढ़ती उम्र का अहसास भी जरूरी है
– त्वचा का रंग निखारने के लिए बेसन में दही मिलाकर गाढ़ा लेप तैयार करें। इसमें आधा चम्मच पिसी हल्दी और एक चम्मच नारियल या जैतून का तेल व नींबू के रस की 5-7 बूंद टपका कर अच्छी तरह मिलाकर लगाएं। जब सूख जाएं, तब कुनकुने गर्म पानी से धो लें।
– शीत ऋतु में त्वचा की रक्षा के लिए एक अंडे की जर्दी फेंट कर उसमें दो चम्मच गुलाब जल और एक चम्मच शहद मिलाकर सप्ताह में एक बार लगायें। थोड़ी देर बाद जब सूख जाए तब रगड़ कर साफ कर पानी से धो डालें।
– एक बड़ा चम्मच आलू का रस, एक चम्मच कुनकुना दूध, एक चम्मच दही को आपस में मिलाकर इस पेस्ट को शरीर पर लगायें। इससे त्वचा का रंग निखर उठेगा।
– अगर आंखों के नीचे की त्वचा में कालापन हो तो आलू के रस को हल्का सा गर्म करके रूई से त्वचा पर लगायें। भोजन में हरी सब्जियों व फलों की मात्रा बढ़ा दें।
खुशियों के रंग, चूडिय़ों के संग
– अगर एडिय़ों की त्वचा फट गई हो तो नींबू के रस में ग्लिसरीन एवं जैतून का तेल मिलाकर नियमित रूप से लगायें।
– कोहनी की त्वचा को साफ करने के लिए संतरे और नींबू के छिलकों को सुखा कर बनाए गए चूर्ण में मुल्तानी मिट्टी मिलाकर उसमें कच्चा दूध मिलाकर कोहनी की त्वचा पर लगायें या स्नान करते समय नींबू के छिलकों को कोहनी की त्वचा पर रगड़ें। होंठों की त्वचा काली हो तो दूध में केसर, शहद और गुलाब की पत्तियां मिलाकर लगायें। चेहरे पर मुहांसे हो तो जायफल को दूध में घिस कर लगायें।
– नितिन कुमार

Share it
Top