सौंदर्य में बाधक हैं चेहरे की झुर्रियां

सौंदर्य में बाधक हैं चेहरे की झुर्रियां

जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जाती है, वैसे-वैसे उम्र का प्रभाव चेहरे पर दिखाई देने लगता है। उम्र में वृद्धि होना तो प्रकृति का नियम है, तथापि त्वचा की देखभाल करके सौंदर्य में वृद्धि की जा सकती है। त्वचा को स्वस्थ और निरोग बना कर हम उम्र में छोटे दिखाई दे सकते हैं। चेहरे के व्यायाम और मालिश द्वारा त्वचा को लंबे समय के लिए युवाओं की त्वचा का सा रूप प्रदान किया जा सकता है।
चेहरे पर उत्पन्न झुर्रियां गंभीर रोग के समान प्रतीत होती हैं। सामान्यत: उम्र में वृद्धि का पता चेहरे से लग जाता है। लगभग 35 वर्ष तक पहुंचते-पहुंचते झुर्रियां चेहरे पर अपने आगमन के संकेत देने लगती हैं। माथे पर समानांतर पड़ती झुर्रियां व आंखों के चारों ओर बारीक रेखाएं 35 साल की उम्र में अपेक्षाकृत अधिक गहरी दिखाई देती हैं। त्वचा की कोमलता व लोच कम हो जाती है।
झुर्रियों के लिए व्यायाम: स्वस्थ शरीर के लिए जहां व्यायाम को जरूरी माना गया है वहीं चेहरे की झुर्रियों को दूर करने के लिए भी व्यायाम के महत्त्व को स्वीकारा गया है। इसके लिए मुंह को चौड़ा खोल कर, जबड़ों को बाहर की ओर करके, जीभ को करीब 2० सेकंड तक ऐसे ही रखें। फिर सामान्य स्थिति में ले आएं। यह क्रिया कई बार दोहराएं। इसके अतिरिक्त प्रतिदिन अंग्रेजी वर्णमाला के अक्षर आई, ई, वी और एक्स को बार-बार दोहराएं। इससे चेहरे की मांसपेशियां सक्रिय होंगी।
योगाभ्यास से दूर होती हैं लिवर की बीमारियां

झुर्रियों के लिए मालिश: चेहरे की मालिश का विषय विवादास्पद है। कुछ विशेषज्ञों के अनुसार मालिश त्वचा को उत्तेजित करने की विधि है तो कुछ के अनुसार मालिश हानिकारक होती है। जब चेहरे की मालिश रगड़ कर की जाती है तो त्वचा में जलन ही महसूस होती है। अत: चेहरे की मालिश करते समय यह ध्यान देना अति आवश्यक है कि मालिश कोमल हाथों से हल्के-हल्के करें। ऐसी मालिश त्वचा की कोशिकाओं को पोषण के लिए प्रेरित करती है। चेहरे की मालिश सदैव कुशल व्यक्ति से ही कराएं।
चेहरे की मालिश का उचित तरीका :
० त्वचा की मांसपेशियों को कोमलता व राहत प्रदान करने के लिए ठोड़ी से ले कर निचले होंठ पर नीचे से ऊपरी दिशा की ओर बाहर की तरफ गालों के चीक बोन तक ऊपर की दिशा में, नाक से हेयर लाइन तक व माथे के मध्य भाग से दोनों ओर बाहर की तरफ हल्के व कोमल हाथों से मालिश करें।
बाल जगत: तरह-तरह की चोरियां

० उंगलियों के पोरों को गेंद के आकार का बना कर माथे पर आटा गूंधने की भांति धीरे-धीरे मालिश करें।
० दोनों हाथों की उंगलियों से चेहरे के भीतरी भाग पर हल्के-हल्के इस तरह थपथपाएं कि माने आप पियानो बजा रही हों। ठोड़ी से गालों, फिर माथे की तरफ मालिश करें।
त्वचा को झुर्रियों से बचाने हेतु सुझाव :
० उम्र से पहले पडऩे वाली झुर्रियों का प्रमुख कारण सूर्य की रोशनी होती है, अत: धूप में निकलने से पहले सनस्क्रीन युक्त क्रीम का प्रयोग
करें।
० शरीर को स्वस्थ रखें क्योंकि चेहरा आपके स्वास्थ्य की चुगली करता है। अपने आहार पर विशेष ध्यान दें क्योंकि संतुलित व पौष्टिक आहार के अभाव में त्वचा पर झुर्रियां पड़ जाती हैं।
० धूम्रपान भूल कर भी न करें क्योंकि धूम्रपान करने से आंखों के आसपास उम्र से पहले झुर्रियां पड़ जाती हैं और विटामिन सी नष्ट हो जाता है।
० अल्कोहल का कतई प्रयोग न करें क्योंकि इससे रक्तवाहनियां फैल जाती हैं व ऊतक जलरहित हो जाते हैं।
– खुंजरि देवांगन

Share it
Share it
Share it
Top