सोना 800 रुपये फिसला, चाँदी 300 रुपये लुढ़की

सोना 800 रुपये फिसला, चाँदी 300 रुपये लुढ़की

नयी दिल्ली । अंतरराष्ट्रीय स्तर से मिले मिश्रित संकेतों के बीच घरेलू बाजार में पीली धातु में लगातार तीन दिन की तेजी के बाद खुदरा ग्राहक वैवाहिक सीजन में भी सर्राफा बाजार से दूर रहे। इससे दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 800 रुपये लुढ़ककर 28,450 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया।
चाँदी भी औद्योगिक माँग में आयी कमी से 300 रुपये लुढ़ककर 40,950 रुपये प्रति किलोग्राम बिकी। विश्लेषकों की राय में दोनों कीमती धातुओं के दाम में उतार-चढ़ाव से खरीदार दुविधा में है वे उचित समय का इंतजार कर रहे हैं कि जब कीमतों में स्थिरता आये तो वे खरीदारी करें। इसके साथ ही सोने के आयातक भारी मात्रा में सोने का आयात नहीं कर रहे हैं क्योंकि उन्हें उम्मीद है कि आगामी बजट में सोने के आयात शुल्क में कटौती की जा सकती है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोने की कीमतों पर इसका भी दबाव है। गत दिसंबर में आयातकों ने वर्ष 2015 के समान माह की तुलना में 71 फीसदी कम सोना आयात किया है। आयातकों पर नोटबंदी का दबाव भी है। लंदन और न्यूयॉर्क से मिली जानकारी के अनुसार, सोना हाजिर 0.78 डॉलर चमककर 1,196.65 डॉलर प्रति औंस पर रहा।
तृणमूल कांग्रेस सासंद सुदीप की तबीयत बिगड़ी, जेल अस्पताल में भर्ती
हालाँकि, फरवरी का अमेरिकी सोना वायदा 4.80 डॉलर लुढ़ककर 1,195.0 डॉलर प्रति औंस पर आ गया। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सात सप्ताह के उच्चतम स्तर पर पहुँचने के बाद सोना दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर के मजबूत होने तथा तकनीकी कारणों से आज लुढ़क गया। लेकिन, फिर भी इसमें लगातार तीसरी साप्ताहिक तेजी रही। विश्लेषकों के अनुसार, हाल में चीन से माँग आने के कारण सोने की खरीदारी काफी हुई थी जिससे इसकी कीमतों में गिरावट आना स्वाभाविक हो गया था।
उनके मुताबिक, मार्च में अमेरिकी फेडरल रिजर्व की होने वाली बैठक से पहले इसके भाव में उतार-चढाव होता रहेगा।
अमेरिका में कर दर में कटौती तथा बुनियादी ढाँचों में अधिक निवेश करने के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बयानों से डॉलर और अमेरिकी शेयर बाजार में तेजी का रुख है जिससे निवेशक सोने की बजाय शेयरों में पैसा लगाना अधिक पसंद कर रहे हैं। इस बीच लंदन में चाँदी हाजिर भी 16.76 डॉलर प्रति औंस पर अपरिवर्तित रही।

Share it
Top