सही तरीके से लें पौष्टिक आहार

सही तरीके से लें पौष्टिक आहार

अच्छी सेहत के लिए जहां पौष्टिक आहार का सेवन जरूरी है वहीं पौष्टिक आहार को क्या हम सही तरीके से खाते भी हैं या बस…….। पौष्टिक आहार लें पर ध्यान दें उसको लेने के सही तरीकों पर भी ताकि उसका पूरा लाभ शरीर को मिल
सके।
सूखे मेवे:-  सूखे मेवों का सेवन शरीर के लिए अति उत्तम माना जाता है। इससे शरीर को कई पौष्टिक तत्व मिलते हैं। अक्सर हम सूखे मेवे बस डिब्बे से निकालते हैं और खा लेते हैं जबकि यह तरीका सही नहीं है। इस प्रकार के सेवन से गैस समस्या हो सकती है। जब भी सूखे मेवे खाएं इन्हें कुछ घंटे पहले भिगो दें। अखरोट और मूगफली को 10 से 12 घंटे के लिए, बादाम को 7 से 8 घंटे के लिए काजू को 4 घंटे के लिए भिगोएं। भीगने के उपरांत उन्हें निकालें और प्लेट या कटोरी में रख कर खाएं। सूखे मेवों की पौष्टिकता का पूरा लाभ शरीर को मिलेगा। क्योंकि शाकाहारी लोगों को ओमेगा-3 इन्हीं मेवों से प्राप्त हो सकता है।
दूध का सेवन:- दूध का सेवन हर आयु वर्ग के लिए जरूरी है क्योंकि दूध में कैल्शियम की भरपूर मात्रा होती है जो हमारी हड्डियों और दांतों के लिए बेहतर होता है। एकदम उबलता दूध न पिएं और दूध कभी फीका न पिएं। मिठास हेतु चीनी के स्थान पर थोड़ा सा शहद या शक्कर का प्रयोग करें। दूध फीका पीने से गैस की समस्या हो सकती है।
‘अरोमाथेरेपी’ सुगंध जो करे रोगों का इलाज…

दही का सेवन:- दही दिल के लिए अच्छा होता है, नियमित दही के सेवन से चेहरे पर चमक बनी रहती है। दही के सेवन का सबसे अच्छा समय सुबह और दोपहर का होता है। दही का सेवन सेहत के लिए अच्छा होता है। ध्यान दें दही के ऊपर आए पानी को फेंके नहीं। उसे दही में मिलाकर खाएं। उस पानी में प्रोटीन, विटामिन बी12, कैल्शियम की मात्रा होती है।
मीट का सेवन:- मीट का सेवन अक्सर लोग खूब पका कर करते हैं जो अपनी पौष्टिकता खो देता है। मीट को उतना कुक करें जितना जरूरी हो। रात्रि में इसका सेवन न कर दोपहर में करें। मीट में प्रोटीन की प्रचुर मात्र होने के कारण रात्रि में इसे पचाना मुश्किल होता है।
फल का सेवन:- फलों का सेवन सेहत की चुस्ती के लिए उत्तम माना जाता है। फलों में कई विटामिंस होते हैं जो शरीर को स्वस्थ रखते हैं। ध्यान दें फल जिन्हें छीलने की आवश्यकता न हो उन्हें छील कर न खाएं। अच्छे से धोकर पोंछकर खाएं ताकि छिलकों में समाहित पौष्टिक तत्व हम पा सकें।
मूड अच्छा तो पूरा दिन अच्छा…उठते ही समाचार न सुनें..!

सब्जियां:- सेहत के लिए सब्जियों का अहम रोल होता है। स्वस्थ और खूबसूरत रहने के लिए सब्जियों का नियमित सेवन करना चाहिएं। सब्जियों को अगर ज्यादा कुक किया जाए या उबाला जाए तो इनकी पौष्टिकता कम हो जाती है। सब्जियों को हो सके तो स्टीम करके ही उनका सेवन करें जिससे उनका पूरा लाभ शरीर को मिल सके। कम तेल व कम मसालों में ही इन्हें पकाना बेहतर होता है।
दालें:- दालों में प्रोटीन्स की प्रचुर मात्रा होती है। अक्सर लोगों को शिकायत रहती है कि दाल खाने के बाद गैस की समस्या हो जाती है क्योंकि वे दाल खाने का सही तरीका नहीं जानते। दालों को धोकर कुछ समय के लिए भिगो कर रखना चाहिए, फिर उन्हें बनाना चाहिए। रात्रि में दाल का सेवन ठीक नहीं रहता दोपहर को ही दाल का सेवन करें। इसी प्रकार बींस को कुछ देर लगभग 20 से 25 मिनट तक भिगो कर रखें। फिर बनाएं।
इसके अतिरिक्त चाहे दाल हो या सब्जी, ताजी खानी चाहिएं। सब्जियां मौसमी ही खाएं। पालक को स्टीम कर खाने से शरीर को लौह तत्व की प्रचुर मात्र मिलती है। सलाद के लिए गाजर, मूली, खीरा,ककड़ी,टमाटर को कुछ देर पानी में भिगोकर, पोंछ कर खाना चाहिए और सलाद भी ताजा काटकर खाना ही लाभप्रद है।
-नीतू गुप्ता

Share it
Top