सरदार को ब्रिटिश पुलिस ने पूछताछ के लिये बुलाया

सरदार को ब्रिटिश पुलिस ने पूछताछ के लिये बुलाया

लंदन। भारतीय हॉकी खिलाड़ी और लंदन में हॉकी वल्र्ड लीग समीफाइनल में टीम का हिस्सा सरदार सिंह को यहां यार्कशायर पुलिस ने एक पुराने कथित शारीरिक उत्पीडऩ के मामले में पूछताछ के लिये तलब किया है। माना जा रहा है कि यह मामला सरदार की पूर्व प्रेमिका के कथित शारीरिक उत्पीडऩ से जुड़ा है। इस मामले में सरदार को पहले भी कानूनी कार्रवाई का सामना करना पड़ा है। भारतीय टीम ने रविवार को पाकिस्तान के खिलाफ 7-1 की जीत दर्ज की थी और अपने आखिरी पूल बी मैच में उसे हॉलैंड से मंगलवार को भिडऩा है। लंदन में जहां टीम टूर्नामेंट की तैयारियों में लगी है तो वहीं सरदार को इस बीच ब्रिटिश पुलिस ने पूछताछ के लिये तलब किया है जिससे उनके प्रदर्शन पर असर हो सकता है। गौरतलब है कि गत वर्ष ब्रिटिश हॉकी टीम की एक खिलाड़ी अशपाल भोगल ने पूर्व हॉकी कप्तान सरदार पर बलात्कार का केस दर्ज कराया था और इस संदर्भ में उनपर भारत और ब्रिटेन में कानूनी केस दर्ज किये गये थे। अशपाल सरदार की पूर्व प्रेमिका रह चुकी हैं और खुद भारतीय हॉकी खिलाड़ी ने उनके साथ अपनी कई तस्वीरें सोशल साइट पर पोस्ट की थीं। हालांकि गत वर्ष अशपाल ने सरदार पर उत्पीडऩ का मामला दर्ज कराया। सरदार को इस पूछताछ के लिये करीब 10 से 12 घंटे का सफर तय करते हुये यार्कशायर पुलिस थाने जाना होगा जबकि टीम को मंगलवार को हॉलैंड के साथ अपना आखिरी पूल मैच खेलना है।
इस बीच अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ(एफआईएच) के अध्यक्ष नरेंद्र ध्रुव बत्रा ने अपने फेसबुक पेज पर बतौर खेल प्रशंसक जानकारी देते हुये कहा कि सरदार को 19 जून दोपहर 12 बजे लीड्स में पुलिस ने पूछताछ के लिये तलब किया है जो एक ऐसी शिकायत के लिये है जो समाप्त नहीं हो रही है। सरदार के साथ हॉकी टीम के कोच जुगराज सिंह भी जाएंगे। उन्होंने लिखाÞ इंग्लैंड एक ऐसा देश है जो भारत से धोखाधड़ी करके भागने वाले लोगों को सुरक्षित जगह प्रदान करता है और उन्हें सुरक्षित रास्ता देता है। मैं देखना चाहूंगा कि जब भारत में किसी बेतुकी शिकायत पर इंग्लैंड के खिलाडियों को पूछताछ के लिये पुलिस थाने बुलाया जाएगा तो इंग्लैंड और विश्व मीडिया उस पर किस तरह से अपनी प्रतिक्रिया देगा। हॉकी इंडिया अपनी ओर से हरसंभव प्रयास कर रही है लेकिन भारतीय मीडिया से भी अपील करती है कि वे भी इस मामले में विदेश मंत्रालय और ब्रिटेन में भारतीय दूतावास से संपर्क करें। उन्होंने कड़े शब्दों में लिखा कि भारत सरकार को इस मामले में हस्तक्षेप कर ब्रिटिश पुलिस को बेवजह सरदार पर दबाव नहीं बनाने के लिये निर्देश देने चाहियें।

Share it
Top