समर में त्वचा की देखभाल

समर में त्वचा की देखभाल

मौसम के बदलने के साथ ही त्वचा में भी बदलाव आने लगते हैं और इससे त्वचा की कई समस्याएं उपजने लगती हैं।
गर्मी की आमद भी अपने साथ त्वचा संबंधी कई समस्याएं ले कर आती है, जिनसे निजात पाने के लिए हम अक्सर केमिकल युक्त महंगे उत्पादों का सहारा लेने लगते हैं। अपनी चिंता में हम यह भूल जाते हैं कि प्राकृतिक उपायों को अपना कर भी अपनी त्वचा को गर्मी के बुरे प्रभावों से बचाया जा सकता है।
याद रखें, रसायन युक्त उत्पाद हर हाल में आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं। इसलिए अपनी स्किन टाइप के अनुसार घर में मौजूद इन उपायों को आजमा कर देखिए, आपकी त्वचा न केवल दमक उठेगी बल्कि त्वचा की एजिंग भी काफी लंबे समय के लिए टल जाएगी।
मिश्रित त्वचा :
इस प्रकार की त्वचा में नाक, फोरहेड और ठोड़ी के आसपास की त्वचा तैलीय होती है जबकि गालों, आंखों के आसपास रूखी होती है। इस तरह की त्वचा में ब्लैकहेड्स एक बड़ी समस्या होती है।
० गुलाबजल में खीरे का रस और नींबू के रस की कुछ बूंदें मिला कर मिस्ट बनाएं और चेहरे पर स्प्रे करें।
० मुल्तानी मिट्टी, चंदन पाउडर और गुलाबजल से बना फेस पैक 15 दिन में एक बार लगाएं। इससे आपके टी जोन से अतिरिक्त तेल कम होगा।
० पपीते को मसल कर उसमें एक चम्मच दूध पाउडर मिलाएं और 10 मिनट के लिए फेस पर लगाएं। यह त्वचा को चमकदार दिखाने में मददगार है।
बढ़ते प्रदूषण से जूझती ट्रैफिक पुलिस
तैलीय त्वचा :
खुले रोमछिद्र और तेल की परत इस स्किन टाइप की पहचान होती है। तैलीय होने के कारण एक्ने और ब्लैकहेड्स इस तरह की त्वचा की आम समस्या होती हैं। हालांकि नम रहने के कारण इस त्वचा में एजिंग के संकेत देर से नजर आते हैं।
० मेकअप को पसीने में बहने से बचाने के लिए बेस लगाने से पहले चेहरे पर आइसक्यूब फेरें।
० एसपीएफ 30-50 सनस्क्रीन लगाएं जो वॉटर बेस्ड हों। ऑयल या क्रीम बेस्ड मॉश्चराइजर न लगाएं।
० इस्तेमाल से पहले चेहरे के सभी तरह के स्प्रे, लोशन और जैल फ्रिज में रखें। इससे रोमछिद्र सिकुडऩे लगेंगे।
० गुलाबजल में खीरे व नींबू के रस के साथ एलोवेरा जूस मिला कर बनाया गया मिस्ट तैलीय त्वचा के लिए वरदान साबित होता है।
० फेस पैक के लिए संतरे के छिलकों का पाउडर, ओट्स पाउडर, शहद, नींबू का रस और गुलाब जल की एक-एक चम्मच मिला कर पैक बनाएं और चेहरे पर लगाएं। सूखने पर धो दें।
दुनियां में चैन की नींद बड़ी समस्या है
सामान्य त्वचा :
इस प्रकार की त्वचा न तैलीय होती है और न ही रूखी। यह देखने में चिकनी होती है, जिसमें रोमछिद्र दिखाई नहीं देते हैं। वैसे सामान्य त्वचा बहुत ही कम लोगों की होती है और यह एक तरह से अच्छी सेहत की निशानी होती है।
० एसपीएफ 30-35 युक्त टिंटेड मॉश्चराइजर का उपयोग करें।
० ब्लैक या ग्रीन टी में कुछ बूंदें लैवेंडर ऑयल और एक चम्मच एलोवेरा जूस मिला कर एक स्प्रे बॉटल में भर लें और फ्रिज में रख लें। दिन में तीन-चार बार इसे चेहरे में रख लें।
० क्लीजिंग के लिए एक छोटा चम्मच बेकिंग सोडा में थोड़ा पानी मिला कर पेस्ट बनाएं और चेहरे पर लगाएं। पांच मिनट रख कर धो लें।
० फेस पैक बनाने के लिए एक चम्मच दूध पाउडर, बादाम पाउडर, शहद और गुलाब जल को मिला कर पेस्ट बनाएं। चेहरे पर लगाएं और सूखने पर धो दें।
० धूप से क्षतिग्रस्त त्वचा को पोषित करने के लिए गाजर का ग्लो पैक बनाएं। इसके लिए गाजर को छील कर उबाल लें। उबली गाजर को मसल लें और शहद मिला कर एक गाढ़ा पैक बना लें। इसे 20 मिनट के लिए चेहरे पर लगाएं और गुनगुने पानी से धो लें। हफ्ते में एक बार जरूर लगाएं।
– खुंजरि देवांगन

Share it
Top