सपाट रहा शेयर बाजार

सपाट रहा शेयर बाजार

मुम्बई। खुदरा मुद्रास्फीति और औद्योगिक उत्पादन के सकारात्मक आंकड़ों के बल पर गिरावट से उबरे घरेलू शेयर बाजार कारोबार के अंतिम घंटे में हुयी बिकवाली के बावजूद बीएसई का सेंसेक्स मामूली बढ़त हासिल करने में सफल रहा जबकि एनएसई का निफ्टी गिरावट लेकर बंद हुआष् 

अधिकतर एशियाई और यूरोपीय बाजारों से मिले मजबूत संकेतों के बीच निवेशकों की सकारात्मक धारणा के बावजूद बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 7.79 अंक चढ़कर 31,103.49 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 9.50 अंक टूटकर 9,606.90 अंक पर बंद हुआ।
कल देर शाम जारी आंकडों के अनुसार गत मई माह में खुदरा मुद्रास्फीति पांच साल के न्यूनतम स्तर 2.18 प्रतिशत पर आ गयी। इसी तरह अप्रैल माह में देश के औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में 3.1 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी है।
सेंसेक्स आज 4.60 अंकों की गिरावट के साथ 31,091.10 अंक पर खुला और 31,260.77 अंक के उच्चतम स्तर तक गया।कारोबार के आखिरी घंटे में इसने तेजी से अपनी बढ़त खोयी और 31,062.34 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतर गया और आखिर में गत दिवस की तुलना में 0.03 फीसदी चढ़कर 31,103.34 अंक पर बंद हुआ।
निफ्टी का ग्राफ भी सेंसेक्स की तरह ही रहा और यह 0.95 अंक लुढ़ककर 9,615.55 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान यह 9,654.05 अंक के उच्चतम स्तर तक गया लेकिन बिकवाली के दबाव में यह 9,600 अंक के नीचे का गोता लगाता हुआ 9,595.40 अंक के निचले स्तर तक गया। आखिर में गत दिवस की तुलना में 0.10 प्रतिशत की गिरावट में 9,606.90 अंक पर बंद हुआ।
बीएसई में कुल 2,886 कंपनियों में कारोबार हुआ जिनमें से 1,330 बढ़त में और 1,336 गिरावट में रहीं जबकि 200 में कोई बदलाव नहीं हुआ।
RBI ने जारी किए 500 रुपए के नए नोट, जानें क्या है बदलाव..!
दिग्गज कंपनियों के विपरीत छोटी और मंझोली कंपनियों लिवाली रही।

बीएसई का मिडकैप 0.01 प्रतिशत यानी 2.11 अंक चढ़कर 14,774.20 अंक पर और स्मॉलकैप 0.41 प्रतिशत यानी 63.87 अंक की तेजी के साथ 15,517.93 अंक पर बंद हुआ।
इस दौरान अधिकतर एशियाई और यूरोपीय बाजारों में तेजी रही। यूरोपीय बाजारों में ब्रिटेन का एफटीएसई 0.15 प्रतिशत और जर्मनी का डैक्स 0.57 प्रतिशत की तेजी में खुला। एशियाई बाजारों में जापान का निक्की 0.05 प्रतिशत फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ जबकि चीन का शंघाई कंपोजिट 0.46 प्रतिशत , दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.71 प्रतिशत और हांगकांग का हैंगसेंग 0.56 प्रतिशत की तेजी में बंद हुआ।
बीएसई के 20 समूहों में से नौ समूह तेजी में रहे जबकि 11 गिरावट में रहे। गिरावट में रहने वाले समूहों में सबसे अधिक बिकवाली आईटी समूह में देखी गयी। आईटी में 1.00, टेक में 0.86, धातु में 0.83, ऑटो में 0.44, ऊर्जा में 0.39, ,तेल एवं गैस में 0.21, सीडीजीएस 0.08, इंडस्ट्रियल्स में 0.06 और बैंङ्क्षकग में 0.01 प्रतिशत की गिरावट रही।
सेंसेक्स की 30 में 15 कंपनियां और निफ्टी की 51 में से सिर्फ 18 कंपनियां हरे निशान में रहीं। सेंसेक्स में सबसे अधिक मुनाफा पावर ग्रिड ने कमाया जिसके शेयरों की कीमत 1.94 प्रतिशत चढ़ गयीं। इसके साथ ही ल्यूपिन के शेयरों में 1.73, एचडीएफसी में 1.52, एनटीपीसी में 1.27, अदानी पोटर्स में 0.67, सनफार्मा में 0.62, एचडीएफसी बैंक में 0.49 , ओएनजीसी में 0.45, टाटा स्टील में 0.25,सिप्ला में 0.12, आईटीसी में 0.11,डॉ रेड्डीज में 0.08, एल एंड टी में 0.06, एशियन पेंट्स में 0.05 और बजाज ऑटो में 0.04 प्रतिशत की बढ़त रही।
उप्र में भी बिहार की तरह ‘नक़लची’ ही बन रहे है टॉपर…IAS अफसर ने किया सनसनीखेज खुलासा …!
सबसे अधिक घाटा टाटा मोटर्स ने उठाया, जिसके शेयरों में 1.51 प्रतिशत की गिरावट रही। इसके अलावा टीसीएस में 1.47, विप्रो में 1.44, हीरो मोटोकॉप्र्स में 0.65 , महिंद्रा एंड महिंद्रा में 0.65, इंफोसिस में 0.58, कोल इंडिया में 0.54, रिलायंस में 0.51, मारूति में 0.44, भारतीय स्टेट बैंक में 0.44, भारती एयरटेल में 0.38, आईसीआईसीआई बैंक में 0.30, एक्सिस बैंक में 0.22, हिंदुस्तान यूनीलीवर में 0.17 और गेल में 0.07 प्रतिशत की गिरावट रही।

Share it
Top