संतुलित भोजन खाएं, मोटापे से मुक्ति पाएं

संतुलित भोजन खाएं, मोटापे से मुक्ति पाएं

bhojanमोटापा आज एक आम समस्या बन गया है। उससे दुनिया का हर व्यक्ति परेशान है। एक अनुमान के अनुसार दुनिया भर में करीब 42 प्रतिशत लोग इससे ग्रसित हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए ज्यादातर लोग डायटिंग करते हैं, भूखे रहते हैं, तरह-तरह की दवाइयाँ सेवन करते हैं लेकिन लाभ नहीं मिलता। मोटापे को लेकर शोध कार्य भी हुए हैं लेकिन उनके परिणाम उत्साहद्र्धक नहीं हैं। इन शोधकार्यों से प्राप्त परिणाम भिन्न भिन्न और उलझाने वाले ही हैं। कुछ लोगों का कहना है कि मोटे व्यक्तियों को प्रोटीन कम मात्र में तथा कार्बोहाइड्रेट ज्यादा मात्र में लेना चाहिए लेकिन कुछ लोग उसे ठीक नहीं मानते। उनके अनुसार मोटापे से ग्रसित लोगों को ज्यादा प्रोटीन तथा कम कार्बोहाइड्रेट लेना चाहिए। कुछ लोग कम आहार तथा ज्यादा श्रम को लाभदायक मानते हैं लेकिन यह निश्चित है कि डायटिंग या कम भोजन करने से मोटापे में कोई लाभ नही मिलता बल्कि उससे नुकसान ही होता है। डायटिंग से शरीर दुबला-पतला तो होता ही है लेकिन शरीर को नुकसान जरूर पहुँचता है। डायटिंग करने से हमारी पाचन क्रि या प्रभावित होती है जिसके कारण हमारे शरीर के आंतरिक अंगों में असंतुलन पैदा होने लगता है। डायटिंग करने से प्राप्त परिणाम स्थायी नहीं होते। जब व्यक्ति अपनी पहली दैनिक प्रकिया अपना लेता है तो वह पुन: मोटा होने लगता है। यहाँ कुछ ऐसे सुझाव दिये जा रहे हैं जिन्हें अपना कर मोटापे से स्थायी रूप से छुटकारा पाया जा सकता है और मोटापे को नियंत्रित किया जा सकता है
– जब भूख लगे, तभी भोजन करना चाहिए। पेट भर जाने पर स्वाद के चलते ज्यादा नहीं खाना चाहिए। ज्यादा खाने से मोटापा बढ़ता है।
– खाते समय किसी से बातें न करें। बातें करते हुए व्यक्ति ज्यादा खा जाता है।
– जो भी खाएं, चबाकर खाएं। दांतों का काम पेट से न लें।
– सुबह नाश्ता करके ही घर से निकलें।
– अपने भोजन में रेशेदार खाद्य-पदार्थों को शामिल करें। ऐसे पदार्थों में कम कैलोरी होती है तथा उन्हें कम खाने पर भी संतुष्टि प्राप्त हो जाती है।
– वसायुक्त आहार का कम से कम सेवन करें क्योंकि वसा शरीर में एकत्र होकर मोटापे को बढाती है। इन की जगह पर फल, हरी सब्जियां, उबले तथा भुने हुए आहार लें।
-चाट-पकौड़ी व फास्ट फूड के सेवन से बचें। इनसे मोटापा बढ़ता है। घर से खा कर ही बाहर जाएं ताकि बाहर का खाना न खाना पड़े। यदि बाहर खाना जरूरी हो तो कम कैलोरी वाली चीजें खाएं। अच्छा होगा कि आप घर का ही भोजन करें।
– घर का भोजन स्वास्थ्य की दृष्टि से लाभदायक होता है। वजन घटाने के लिए ऐसे आहार की जरूरत होती है जिसमें शरीर के विकास के लिए आवश्यक सभी तत्व हों तथा उससे शरीर को कम कैलोरी मिले। यदि आप कम कैलोरी वाला संतुलित आहार लेंगे तो आपको मोटापे से छुटकारा तो मिलेगा ही, शरीर का समुचित विकास भी होगा।
– छरहरा होने के लिए नई सोच व नियमित तथा संतुलित भोजन प्रणाली अपनाने की जरूरत पड़ती है। वजन को लेकर ज्यादा परेशान नहीं होना चाहिए। यदि लम्बाई के अनुपात में वजन है तो यह चिंता का विषय नहीं है। डायटिंग या उपवास मोटापे से छुटकारा पाने का सही उपाय नहीं है, इसलिए डायटिंग से बचना चाहिए। कम कैलोरी वाला पौष्टिक व रेशेदार भोजन करें।
– सलाद, सादा सूप, ताजे फल और सब्जियां खाना हितकर है। केक, चाकलेट, पेस्ट्री, वसायुक्त व उच्च कैलोरी वाली चीजों आदि के सेवन से बचना चाहिए। अपने को काम में व्यस्त रखें। सुबह नियमित रूप से भ्रमण करें। इससे शरीर की अतिरिक्त कैलोरी घटती है। स्लिमिंग सेंटर में जाकर विशिष्ट साधनों से लाभ उठाया जा सकता है।
-राजा तालुकदार

Share it
Top