शेयर बाजार पाँच महीने के उच्चतम स्तर पर

शेयर बाजार पाँच महीने के उच्चतम स्तर पर

मुंबई। अमेरिका में बांड यील्ड घटने तथा घरेलू स्तर पर एचडीएफसी बैंक, सन फार्मा और आईसीआईसीआई बैंक जैसी दिग्गज कंपनियों में हुई लिवाली से आज शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन तेजी रही और यह लगभग पाँच महीने के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 0.59 प्रतिशत यानी 167.48 अंक चढ़कर 23 सितंबर के बाद के उच्चतम स्तर 28,468.75 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 0.50 अंक की बढ़त में 8,821.70 अंक पर रहा।
रिजर्व बैंक ने एचडीएफसी बैंक में विदेशी निवेश का प्रतिशत अधिकतम सीमा से कम होने के मद्देनजर गुरुवार शाम उसमें नये विदेशी निवेश पर लगा प्रतिबंध हटा लिया था। इससे आज बाजार खुलते ही एक समय उसके शेयर नौ प्रतिशत से ज्यादा चढ़ गये। हालाँकि, अंतत: यह 3.75 प्रतिशत की तेजी के साथ 1,377.15 रुपये प्रति शेयर पर बंद हुआ। सेंसेक्स की आज की तेजी में उसका योगदान करीब 110 अंक का रहा। अन्य कंपनियों में सनफार्मा, सिप्ला, टाटा मोटर्स, ईसीआईसीआई बैंक और रिलायंस भी हरे निशान में बंद हुये। अमेरिका में बांड यील्ड घटने से निवेशकों ने घरेलू बाजार में लिवाली पर जोर दिया। साथ ही एचडीएफसी बैंक की तेजी से मिले समर्थन के बल पर सेंसेक्स 369.18 अंक की तेजी में 28,670.43 अंक पर खुला और खुलते ही 28,726.26 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया।
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बोले- गठबंधन दो युवाओं का नहीं, दो भ्रष्ट कुनबे का है..!
हालाँकि, कुछ देर बाद इसकी तेजी कुछ कम हुई, लेकिन पूरे दिन यह हरे निशान में रहा। कारोबार के दौरान 28,410.91 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 167.48 अंक की बढ़त में 28,468.75 अंक पर रहा। निफ्टी भी 105.40 अंक की तेजी के साथ 8,883.70 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 8,896.45 अंक के दिवस के उच्चतम तथा 8,804.25 अंक के निचले स्तर को छूने के बाद यह 43.70 अंक की तेजी में 8,821.70 अंक पर बंद हुआ। मझौली तथा छोटी कंपनियों में अपेक्षाकृत कम तेजी रही। बीएसई का मिडकैप 0.53 प्रतिशत तथा स्मॉलकैप 0.40 प्रतिशत मजबूत होकर क्रमश: 13,422.89 अंक तथा 13,467.64 अंक पर पहुँच गया। बीएसई में कुल 3,018 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,424 कंपनियों के शेयर हरे निशान में तथा 1,388 के लाल निशान में रहे जबकि 208 के शेयर उतार-चढ़ाव से होते हुये स्थिर बंद हुये।
अखिलेश ने कहा, दंगल में पहलवानों का जोड़ मिलाया जाता है, बताइए प्रधानमंत्री हमसे करना चाहते हैं मुकाबला
अमेरिका में बांड यील्ड घटने से जहां भारतीय बाजार में निवेशक लिवाल रहे, वहीं अन्य प्रमुख एशियाई तथा यूरोपीय बाजारों में उन्होंने बिकवाली की। दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.06 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 0.31 प्रतिशत, जापान का निक्की 0.58 प्रतिशत तथा चीन का शंघाई कंपोजिट 0.86 प्रतिशत की गिरावट में रहा। ब्रिटेन का एफटीएसई भी शुरुआती कारोबार में 0.05 प्रतिशत उतर गया। बीएसई के 20 में से 13 समूहों के सूचकांक बढ़त में तथा सात के गिरावट में रहे। सबसे ज्यादा 1.64 प्रतिशत की तेजी स्वास्थ्य में देखी गयी। तेल एवं गैस 1.38 प्रतिशत, वित्त 1.24 प्रतिशत, बैंङ्क्षकग 1.21 प्रतिशत तथा एनर्जी 1.07 प्रतिशत चढ़े। इनके अलावा पीएसयू, एफएमसीजी, इंडस्ट्रियल्स, यूटिलिटीज, पूँजीगत वस्तुएँ, टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद, पावर तथा रियलिटी समूहों में भी तेजी रही। वहीं, टेक समूह में सबसे ज्यादा 0.86 प्रतिशत के साथ बेसिक मटिरियल्स, सीडीजीएंडएस, दूरसंचार, ऑटो तथा धातु में गिरावट रही। सेंसेक्स की 30 में से 15 कंपनियाँ हरे तथा 15 लाल निशान में रहीं। सनफार्मा के शेयर सर्वाधिक 4.03 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक के 3.75 प्रतिशत, सिप्ला के 1.58, टाटा मोटर्स के 1.53, आईसीआईसीआई बैंक के 1.52, गेल के 1.41, ल्यूपिन के 1.23, रिलायंस इंडस्ट्रीज के 0.98, भारती एयरटेल के 0.90, पावर ग्रिड के 0.82, एचडीएफसी के 0.62,आईटीसी के 0.58, एलएंडटी के 0.52, ओएनजीसी के 0.10 तथा महिंद्रा एंड महिंद्रा के 0.04 प्रतिशत चढ़े। नुकसान उठाने वालों में टीसीएस में सबसे ज्यादा 1.58 प्रतिशत, हीरो मोटोकॉर्प में 1.29, इंफोसिस में 1.21, विप्रो में 1.10, एशियन पेंट््स में 0.91, एक्सिस बैंक में 0.81, मारुति सुजुकी में 0.63, भारतीय स्टेट बैंक में 0.59, कोल इंडिया में 0.53, हिंदुस्तान यूनिलिवर में 0.51, डॉ. रेड्डीज लैब तथा टाटा स्टील दोनों में 0.39, बजाज ऑटो में 0.30, एनटीपीसी में 0.29 तथा अदानी पोट््र्स में 0.20 प्रतिशत की गिरावट रही।

Share it
Top