शीर्ष पर रहकर सत्र का समापन करना चाहेंगे मरे और जोकोविच

शीर्ष पर रहकर सत्र का समापन करना चाहेंगे मरे और जोकोविच

mareyलंदन। हाल ही में नंबर वन टेनिस खिलाड़ी बने ब्रिटेन के एंडी मरे तथा सर्बिया के नोवाक जोकोविच जब एटीपी टूर फाइनल्स टेनिस टूर्नामेंट में खिताब के लिये अपनी दावेदारी पेश करने उतरेंगे तो निश्चित रूप से इन दोनों दिग्गजों के बीच इस बात की भी होड़ रहेगी कि वे यहां जीतें और वर्ष का समापन नंबर वन पर रहते हुये करें।
इस वर्ष विंबलडन और ओलंपिक स्वर्ण पदक जीत चुके मरे और जोकोविच के बीच कोर्ट पर प्रतिद्वंद्विता बहुत पुरानी रही है। जोकोविच ने जहां आस्ट्रेलियन ओपन में जीत के साथ सत्र की शुरुआत की थी वहीं मरे ने विंबलडन और ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतकर अपनी श्रेष्ठता सिद्ध की थी। दोनों दिग्गज खिलाडियो के बीच 15 वर्ष पहले ही श्रेष्ठता की जंग शुरू हो गयी थी जब वे पहली बार यूरोपियन जूनियर टूर्नामेंट में आपस में भिड़े थे। मरे ने हाल ही में हुए पेरिस मास्टर्स टेनिस टूर्नामेंट में खिताब जीतकर 12 ग्रैंड स्लेम जीत चुके जोकोविच की 122 सप्ताह से चली आ रही बादशाहत समाप्त की थी और नंबर वन खिलाड़ी बने थे।
नोटबंदी से परेशान लोगो ने किराने की सरकारी दुकान लूटी ,कई दिन से थे परेशान
मरे ने जोकोविच को अपदस्थ कर नंबर वन की कुर्सी तो जरूर हासिल कर ली है लेकिन वह पूर्व नंबर वन खिलाड़ी से मात्र 405 अंक की बढ़त पर हैं और यदि मरे एटीपी टूर फाइनल्स में जोकोविच से बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं तो निश्चित रूप से सर्बियाई दिग्गज मरे से अपना नंबर वन का ताज छीन लेंगे। मरे और जोकोविच आठ खिलाडियो के इस टूर्नामेंट में अलग अलग ग्रुप में रखे गये हैं जिसका मतलब साफ है कि इन दोनों दिग्गजों की सेमीफाइनल से पहले भिड़ंत संभव नहीं है। इस टूर्नामेंट में खिताबी जीत दोनों खिलाडियो के लिये वर्ष का समापन नंबर वन में रहते हुये रहने का रास्ता तय करेगी। स्टार जोकोविच पिछले चार बार से इस टूर्नामेंट में खिताब जीत चुके हैं। पूर्व नंबर एक खिलाड़ी स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर तथा स्पेन के राफेल नडाल की अनुपस्थिति में मरे और जोकोविच दोनों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिलेगी।आप ये ख़बरें अपने मोबाइल पर पढना चाहते है तो दैनिक रॉयल unnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे.].

Share it
Top