शिक्षा, शादी व संवाद होगा जाट महासम्मेलन का मुख्य उद्देश्य..संजीव बालियान का करेंगे विरोध…!

शिक्षा, शादी व संवाद होगा जाट महासम्मेलन का मुख्य उद्देश्य..संजीव बालियान का करेंगे विरोध…!

dsc_0100मुजफ्फरनगर। राष्ट्रीय जाट संरक्षण समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष विपिन बालियान ने जानकारी देते हुए बताया कि समिति के तत्वावधान में नदी रोड रामलीला टिल्ला स्थित एक फार्म हाउस पर जाट महासम्मेलन का आयोजन 11 दिसम्बर को किया जा रहा है। इस आयोजन में 10 प्रदेशों के दिग्गज चौधरी शिरकत करेंगे। जाटों के उत्थान, सामाजिक कुरीतियों व बच्चों की शिक्षा-दीक्षा इत्यादि गम्भीर मुद्दों पर विचार मंथन किया जायेगा।उन्होंने आगे बताया कि महासम्मेलन का मुख्य उद्देश्य जाट बिरादरी को उत्थान की ओर अग्रसर कर बिरादरी में फैली सामाजिक कुरीतियों (दहेज, सगोत्र विवाह), आर्थिक रूप से निर्बल जाट बिरादरी के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा प्रदान करना, बिरादरी की गरीब तबके की बेटियों का सामूहिक विवाह कराया जाना तथा बिरादरी के युवाओं को शिक्षा व सही दिशा की ओर प्रेरित करना होगा। उनका कहना था कि जाट बिरादरी में आये दिन होने वाली आपसी रंजिशों के चलते दोनों परिवारों की क्षति होती है। इसी क्षति व मतभेदों को संवाद के जरिये समन्वय स्थापित कराना भी मुख्य उद्देश्य होगा। उन्होंने कहा कि समिति जाटों के उत्थान के लिये वचनबद्ध है।
विपक्ष बोलने नहीं दे रहा.. इसीलिए लोकसभा के बजाय जनसभा का इस्तेमाल : मोदी
इस विशाल महासम्मेलन में हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, दिल्ली, गुजरात, मध्यप्रदेश, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश व उत्तराखण्ड से जाट बिरादरी के चौधरी शिरकत करेंगे।उन्होंने केन्द्रीय राज्यमंत्री संजीव बालियान पर निशाना साधते हुए कहा कि वह इस पद के योग्य नहीं है। उनका कहना था कि जब वह महासम्मेलन के निमंत्रण देने उनके पास गये, तो डॉ. संजीव बालियान ने सम्मेलन में आने से यह कहकर इंकार कर दिया कि वह जाट नहीं, सांसद है। वह राजनैतिक व्यक्ति है, जाट नहीं है। विपिन सिंह बालियान का कहना था कि वह जाट है या नहीं, इसका जवाब तो उन्हें आने वाले चुनाव में दिया जायेगा। जनता उनसे इस बात को लेकर सवाल करेगी कि वह सांसद बनने से पहले क्या थे और उनका कार्यकाल समाप्त होने के बाद वह क्या होंगे?
add-royal-copy

Share it
Share it
Share it
Top