शारापोवा ने डोपिंग के लिये आईटीएफ को ठहराया दोषी

शारापोवा ने डोपिंग के लिये आईटीएफ को ठहराया दोषी

लंदन। पांच बार की ग्रैंड स्लेम चैंपियन रूस की मारिया शारापोवा ने मेलडोनियम को प्रतिबंधित दवाओं की श्रेणी में डाले जाने से पूर्व जानकारी नहीं देने के लिये अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) को दोषी ठहराया है। शारापोवा को 2016 आस्ट्रेलियन ओलंपिक के दौरान प्रतिबंधित पदार्थ मेलडोनियम के सेवन का दोषी पाया गया था जिसके लिये उन पर दो वर्ष का प्रतिबंध लगाया गया था। इसके बाद उनके निलंबन को घटाकर 15 महीने कर दिया गया जिसके बाद अब वह इस वर्ष कोर्ट पर वापसी को तैयार हैं। मेलडोनियम को विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी(वाडा) ने वर्ष 2016 के शुरूआत में ही प्रतिबंधित दवाओं की श्रेणी में डाला था जिसे एथलीट शरीर में खून के प्रवाह को बढ़ाने के लिये इस्तेमाल करते हैं। 29 वर्षीय टेनिस खिलाड़ी ने कहा क्यों नहीं कोई अधिकारी मेरे पास आया और मुझसे व्यक्तिगत तौर पर बात की।
अंबेडकर जयंती के मौके पर योगी आदित्यनाथ ने कहा, महापुरुषों के नाम पर बंद हो सरकारी छुट्टियां
यह एक गोपनीय मुद्दा था जिसके बारे में वे बाद में बात कर रहे थे लेकिन पहले इसे लेकर कुछ नहीं कहा गया। शारापोवा ने हालांकि माना कि वह डोपिंग को लेकर कुछ लापरवाह हो गयी थीं और ड्रग टेस्ट फेल होने के लिये खुद ही जिम्मेवार हैं। उन्होंने कहा कि अंत में तो गलती मेरी ही है। मुझे पहले हर बार हर टेस्ट के लिये क्लीन चिट मिल जाती थी और पिछले सात वर्षा में कोई परेशानी नहीं हुई तो मैं भी लापरवाह हो गयी। शारापोवा अंतरराष्ट्रीय टेनिस में 24 अप्रैल को स्टटगार्ट ग्रां प्री से वापसी करेंगी।

Share it
Top