शादी के बाद न बढऩे दें वजन…क्या करें कि वजन काबू में रहे..?

शादी के बाद न बढऩे दें वजन…क्या करें कि वजन काबू में रहे..?

शादी के बाद कुछ ऐसे कारण होते हैं जिनसे पुरूष और महिलाओं का वजन बढऩे लगता है। एक सर्वे के अनुसार शादी के 5 साल बाद 82 प्रतिशत जोड़ों का वजन 5 से 10 किलो तक बढ़ जाता है विशेषकर महिलाओं का वजन ज्यादा तेजी से बढ़ता है। आइए जानें क्या कारण हैं जो शादी के बाद वजन बढ़ाने में मदद करते हैं।
बदल जाती हैं प्राथमिकताएं:-
पहले आप कभी कभी अपने माता-पिता और बहन भाई के लिए कुछ पकाती हैं तो ज्यादा स्वाद का ध्यान नहीं रखतीं। शादी के बाद सुसराल वालों और पति के लिए खाना बनाना होता है। खाना अच्छा बने इसके लिए खूब घी-तेल, मसालों का प्रयोग करती हैं। वही खाना आप स्वयं भी खाती हैं। लगातार इस प्रकार के खाने से वजन बढ़ता है।
आते हैं हार्मोनल बदलाव:-
शादी से पहले और बाद में शरीर में हार्मोनल बदलाव आते हैं। ये हार्मोनल बदलाव वजन बढ़ाने में मदद करते हैं। शादी के बाद सेक्सुअल एक्टिविटीज के कारण हार्मोन्स में बदलाव आता है जो वजन बढ़ाने में मदद करता है।
बाहर खाना-पीना:-
शादी के बाद सगे संबंधियों के घर डिनर पर जाना पड़ता है जो कई माह तक चलता रहता है। शादी के एकदम शुरू में हनीमून पर बाहर खाना वापिस आने पर सास भी खूब खातिर करती है। इस चक्कर में बेरोक टोक खाना खाने से वजन बढऩा लाजिमी हो जाता है। शादी के कुछ समय बाद रेस्टोरेंटस में खाना भी बढ़ जाता है। किसी भी अवसर पर पार्टी के रूप में खूब खाया जाता है।
पुराने टूथ ब्रश से भी बीमारियां..टूथ ब्रश दो-तीन माह में बदल लें..!

तनाव होने पर भी ज्यादा खाना:-
नए माहौल में अपने आप को ढालना थोड़ा मुश्किल तो होता ही है, विशेषकर जब दुल्हन नौकरी करती हों। दोहरी जिम्मेदारियों को निभाना उनके लिए किसी चैलेंज से कम नहीं होता। ऐसे में तनाव होने लगता है। कभी कभी तनाव में ज्यादा खाना शुरू कर देने वाली महिलाएं अपना वजन बढ़ा लेती हैं।
आता है बदलाव खानपान में:-
मायके और ससुराल के खानपान में अंतर होना, मसालों का प्रयोग, खाना बनाने की विधि में अंतर होना ये सब चीज हमारी पाचन क्रिया को प्रभावित करता है। किसी किसी घर मे अधिक तैलीय खाना पड़ता है जो हमारे वजन बढ़ाने में मदद करता है।
शादी के बाद लापरवाह:-
शादी से पहले लड़कियां कम खाकर अक्सर स्वयं को स्लिम बनाए रखती हैं। अगर थोड़ी हैवी हैं तो सैर, व्यायाम, जिम जाकर खुद को पतला बना लेती हैं। शादी के बाद सबके लिए समय निकालना मुश्किल हो जाता है। काम की जिम्मेदारी भी पड़ जाती है। ऐसे में उनकी मानसिकता में बदलाव आता है और उनकी सोच यह हो जाती है कि अब तो शादी हो गई है, क्या अंतर पड़ता है। थोड़ा वजन बढ़ जाएगा तो क्या हुआ। इसी प्रकार वजन की रफ्तार बढऩी शुरू हो जाती है।
मेरी भी सुन लिया करो…..

गर्भधारण भी है कारण:-
शादी के जल्दी बाद जो महिलाएं गर्भधारण कर लेती हैं। कुछ तो उनका वजन बढऩा स्वाभाविक होता है। कुछ परिवार वालों की एक्स्ट्रा देखभाल भी वजन बढ़ाने में मदद करती है। अधिकतर का डिलीवरी के बाद भी वजन कम नहीं होता।
पूरी नींद न लेना:-
शादी के बाद सोने, जागने का समय बदल जाता है। इस कारण नींद पूरी नहीं हो पाती। नींद पूरी न होना भी वजन बढऩे का कारण होता है।
क्या करें कि वजन काबू में रहे:-
– स्ट्रेस ईटिंग से बचें। खुश रहें।
– अपने व्यक्तित्व और लुक्स के प्रति लापरवाही न बरतें।
– भूख से अधिक न खाएं।
– अपने खाने के समय पर ही खाएं, सबसे अंत में खाने की आदत को बदलें।
– पति के साथ योगा क्लासेस या जिम ज्वाइन करें ताकि अधिक समय एक साथ बिता सकें।
– आउटसाइड फूड को बढ़ावा न दें। घर पर पौष्टिक सादा भोजन ही खाएं।
– नाश्ता अवश्य करें।
– मेघा

Share it
Share it
Share it
Top