शरीर और सौंदर्य का रक्षक ‘नींबू’..खजाना है विटामिन सी का

शरीर और सौंदर्य का रक्षक ‘नींबू’..खजाना है विटामिन सी का

‘नींबू’ प्रकृति की एक ऐसी देन है या यह कहें कि कुदरत का एक ऐसा खजाना है कि जिसका लाभ हम मनुष्य लोग नहीं ले पाते, जानकारी न होने की वजह से । मात्र रसना का स्वाद है, इतना ही जानते हैं। यह शरीर तथा सौंदर्य के लिए बहुत ही उपयोगी है। सर्वत्र सरलता से उपलब्ध नींबू का आयुर्वेद में बहुत महत्त्व है। यकृत तथा आमाशय की बीमारी में, खाना हजम न होने की स्थिति में नींबू लाभकारी है। समान भाग में ग्लिसरीन नींबू के रस में मिलाकर लगाने से छाइयां, कील, मुंहासे दूर होते हैं। कोई जरूरत नहीं है बाजार से महंगी क्रीम लगाने की और न ही लाभ होता है। रक्त विकार में नींबू अमृत तुल्य है। सर्दी, जुकाम, इन्फ्लुएंजा और न्यूमोनिया में नींबू का रस बहुत ही लाभकारी है। नींबू में पाया जाने वाला विटामिन ए शरीर का पोषण करता है, विटामिन बी- पाचन शक्ति को बढ़ाता है, तथा विटामिन सी का खजाना है।
गुण:- इस का रस अम्ल (खट्टा) है। तृष्णा (प्यास) सामक, पाचक, ह्नदय बलप्रद कफ निकालने वाला तथा दाह शामक है। यह अम्लीय होते हुए भी एसिडिटी नाशक है।
ससुर : आइए दामाद जी आज सुबह सुबह अचानक

रासायनिक संगठन:-सात से दस प्रतिशत साइट्रिक एसिड, विटामिन ए, बी, सी, फास्फोरिक एसिड, शर्करा, मैलिक एसिड, एस्पेरदिन नामक तिक्त ग्लुकोसाइड पांच से आठ प्रतिशत आदि का रासायनिक संयोजन है। नींबू का प्रयोग इस प्रकार कर सकते हैं।
कब्ज:- एक नींबू का रस गुनगुने गर्म पानी में प्रात: दो गिलास पीने से पेट साफ रहता है।
मोटापा:- दिन में दो बार एक-एक नींबू का रस और एक-एक चम्मच शहद गर्म पानी मेे पीने से तथा मैदा व तली हुई चीजों का परहेज करने पर मोटापा कम होता है।
चेचक:- नींबू के रस में गुड़ मिलाकर चाटें। भोजन की जगह सिर्फ दूध पीने से चेचक में चमत्कारिक लाभ होता है।
डेंड्रफ:- नहाने के बाद नींबू का रस पानी में मिलाकर बालों में डाले।
आश्चर्यजनक सत्य: जहां एक पत्नी के पांच-पांच पति होते हैं..!

उल्टी-दस्त:- गुनगुने पानी में नींबू का रस, चीनी, सफेद इलायची डालकर पिलाने से लाभ होता है।
पथरी:- एक गिलास पानी में नींबू का रस, सेंधा नमक स्वादानुसार मिलाकर सुबह-शाम-रात तीन बार पीने से एक माह में पथरी गल कर निकल जाती है।
उच्च रक्त-चाप:- हाई ब्लड-प्रेशर में एक गिलास पानी में नींबू रस तथा चार कली लहसुन पीसकर मिलाकर पीने से रक्तचाप कम होता है। कमर दर्द, गठिया में भी लाभ होता है।
गर्मी में शिंकजी/पानी नींबू चीनी पीने से शक्ति व तरो-ताजगी मिलती है।
– आर.डी.अग्रवाल ‘प्रेमी’

Share it
Share it
Share it
Top