विजय और पुजारा की जवाबी शतकीय स्ट्राइक

विजय और पुजारा की जवाबी शतकीय स्ट्राइक

cheteshwar-pujara-murali-vijayराजकोट। ओपनर मुरली विजय (126) और श्रीमान भरोसेमंद चेतेश्वर पुजारा (124) के शानदार शतकों तथा उनके बीच दूसरे विकेट के लिये 209 रन की जबरदस्त साझेदारी की बदौलत भारत ने इंग्लैंड को करारा जवाब देते हुये पहले क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन शुक्रवार को चार विकेट पर 319 रन का मजबूत स्कोर बना लिया।
भारत अभी इंग्लैंड के 537 रन के स्कोर से 218 रन पीछे है और उसके छह विकेट बाकी हैं। भारत ने दिन के आखिरी दो ओवरों में विजय और नाइटवाचमैन अमित मिश्रा के विकेट गंवाये। वरना भारत दो विकेट पर 318 रन की बेहद मजबूत स्थिति में था। विजय ने अपने करियर का सातवां और पुजारा ने नौवां शतक बनाया। विजय ने 301 गेंदों पर 126 रन में नौ चौके और चार छक्के उड़ाये जबकि पुजारा ने 206 गेंदों पर 124 रन में 17 चौके लगाए। तीसरे दिन स्टम्प्स के समय कप्तान विराट कोहली 70 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 26 रन बनाकर क्रीज पर थे। भारत ने सुबह के सत्र में ओपनर गौतम गंभीर का विकेट गंवाया जबकि दिन के आखिरी सत्र में उसने पुजारा, विजय और मिश्रा के विकेट गंवाए। मजबूत स्थिति में मौजूद भारत को इंग्लैंड ने दिन की समाप्ति तक दो करारे झटके दे दिये। लेग स्पिनर आदिल राशिद ने विजय को शार्ट लेग पर हसीब हमीद के हाथों कैच करा दिया। लेग स्पिनर अमित मिश्रा नाइटवाचमैन के रूप में उतरे लेकिन लेफ्ट आर्म स्पिनर जफर अंसारी ने मिश्रा को भी हमीद के हाथों कैच करा दिया। इन दो विकेटों ने दिन की समाप्ति तक इंग्लैंड का पलड़ा कुछ भारी कर दिया। विजय और पुजारा की साझेदारी के दौरान इंग्लैंड के तेज और स्पिन गेंदबाज लगातार संघर्ष करते रहे थे लेकिन इस साझेदारी के टूटने के बाद इंग्लैंड के गेंदबाज भारत पर हावी हो गये। अब मैच के चौथे दिन सुबह का खेल भारत के लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण रहेगा। भारत के लिये फिलहाल राहत की बात यही है कि कप्तान विराट क्रीज पर मौजूद हैं और वह अपनी नजरें जमा चुके हैं। भारत ने सुबह बिना कोई विकेट खोए 63 रन से आगे खेलना शुरू किया।
एंट्री टैक्स लगाने का राज्य सरकारों को अधिकार : सुप्रीम कोर्ट
विजय ने 25 और गौतम गंभीर ने 28 रन से भारतीय पारी को आगे बढ़ाया। भारत को जल्द ही पहला झटका लग गया जब गंभीर को तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्राड ने पगबाधा कर दिया। गंभीर ने 72 गेंदों में चार चौकों की मदद से 29 रन बनाए और भारत का पहला विकेट 68 के स्कोर पर गिरा। विजय और पुजारा ने इसके बाद जमकर खेलते हुये दूसरे विकेट के लिये 67 ओवर में 209 रन की साझेदारी की। इस साझेदारी में पुजारा का योगदान 124 और विजय का योगदान 85 रन रहा। दोनों लंच तक टीम के स्कोर को 162 और चायकाल तक 228 रन तक ले गये। पुजारा ने चायकाल के तुरंत बाद अपना शतक 169 गेंदों में पूरा किया। विजय ने अपना शतक 254 गेंदों में पूरा किया। लंच के समय विजय 57 और पुजारा 62 रन बनाकर क्रीज पर थे। दूसरे सत्र में दोनों बल्लेबाजों को एक एक जीवनदान भी मिला। पुजारा को तो शुक्रगुजार होना चाहिये डीआरएस का जिसके चलते वह बच गये और अपना शतक पूरा कर सके। डीआरएस को आठ वर्ष बाद जाकर भारत की किसी सीरीज में लागू किया गया है। विजय को उनके 66 रन के स्कोर पर जीवनदान मिला। उस समय भारत का स्कोर 190 रन था और भारतीय पारी का 60वां ओवर चल रहा था। तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्राड की गेंद पर हमीद ने कवर पर विजय का कैच छोड़ा। पुजारा जब 86 रन पर थे और भारतीय पारी का 72वां ओवर चल रहा था कि लेफ्ट आर्म स्पिनर अंसारी की एक गेंद को खेलने से वह चूके और गेंद उनके पिछले पैर से टकराई। इंग्लैंड के खिलाडिय़ों की जोरदार अपील पर अंपायर ने पुजारा को पगबाधा करार दिया। पुजारा ने तुरंत डीआरएस के लिये इशारा किया। तीसरे अंपायर ने रिप्ले देखने के बाद पाया कि गेंद स्टप्म्स के ऊपर जा रही थी। मैदानी अंपायर ने अपना फैसला बदलकर पुजारा को नॉटआउट करार दिया। पुजारा को नाटआउट करार दिये जाते ही मैच देख रही उनकी पत्नी और पिता ने खुशी का इजहार किया। पुजारा की पत्नी तो खुशी से उछल ही पड़ी। पुजारा चायकाल के समय तक 99 और विजय 86 रन पर खेल रहे थे। पुजारा ने चायकाल के तुरंत बाद क्रिस वोक्स की गेंद पर एक रन लेकर अपना शतक पूरा किया। पुजारा के शतक पूरा करने के तुरंत बाद ही इंग्लैंड ने दूसरी नयी गेंद ले ली। लेकिन इसका दोनों बल्लेबाजों पर कोई असर नहीं पड़ा। पुजारा आखिर भारत के 277 के स्कोर पर आउट हुये। मध्यम तेज गेंदबाज बेन स्टोक्स की शार्ट पिच गेंद पुजारा के बल्ले का संपर्क लेते हुये वाइड स्लिप में एलेस्टेयर कुक के हाथों में समां गई।
बागपत में भूमि विवाद में दो पक्षो में मारपीट, महिला समेत तीन घायल
पुजारा को सुबह के सत्र में इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों ने अपनी शार्ट गेंदों से काफी परेशान किया था और कई गेंदें उनके हेल्मेट से टकराई। लेकिन इस बल्लेबाज ने अपने घरेलू दर्शकों को अपनी शानदार बल्लेबाजी से रूबरू कराते हुये बेहतरीन शतक लगा दिया। विजय का दिनभर का संघर्ष आखिर दिन के अंत में जाकर समाप्त हो गया। राशिद ने फारवर्ड शार्ट लेग पर हमीद के हाथों कैच कराया। विजय ने 301 गेंदों की बेहतरीन पारी में नौ चौके और चार छक्के उड़ाए। मिश्रा को नाइटवाचमैन के रूप में लाना फायदेमंद नहीं रहा। अब जिम्मेदारी कप्तान विराट पर है कि वह लंबी पारी खेलें और भारत को इंग्लैंड के स्कोर के पास ले जाएं। इंग्लैंड के लिये ब्राड, अंसारी, राशिद और स्टोक्स ने एक एक विकेट लिया।दैनिक रॉयल unnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे..]

Share it
Top