लोगों को लुभा रहे हैं भारतीय स्वर्ण सिक्के

लोगों को लुभा रहे हैं भारतीय स्वर्ण सिक्के

sone-ds-sikkiनई दिल्ली। भारत सरकार की महात्वाकांक्षी स्वर्ण मौद्रीकरण योजना के तहत पेश सोने के सिक्के इंडियन गोल्ड क्वॉयन को शुद्धता और विश्वसनीयता के कारण उपभोक्ता दूसरे स्वर्ण सिक्कों से अधिक पसंद कर रहे हैं।
कीमती धातुओं का कारोबार करने वाली सरकारी कंपनी एमएमटीसी लिमिटेड तथा विश्व स्वर्ण परिषद द्वारा किये गये अध्ययन में यह बात समाने आयी है। परिषद द्वारा आज जारी रिपोर्ट इंडियाज गोल्ड इंवेस्टमेंट इवॉल्यूशन, इंडियन गोल्ड क्वॉयन: ऐन इंट्रोडक्शन टू ब्रांडेड गोल्ड क्वॉयंस में कहा गया है भारतीय स्वर्ण सिक्कों की माँग लगातार बढ़ती जा रही है। उसने कहा कि सरकार द्वारा प्रायोजित होने की वजह से इसकी शुद्धता, विश्वसनीयता तथा मानक के अनुरूप होना इसका सबसे बड़ा कारण है।
दिवाली बाद कालाधन रखने वालों की खैर नहीं..12 हजार से ज्यादा संदिग्धों की सूची तैयार
    परिषद ने कहा कि त्योहारी मौसम में खासकर दीपावली में उपहार के तौर पर सोने के सिक्के देने के प्रचलन के कारण इसकी बिक्री बढ रही है। ऐसे में बैंकों जैसे विश्वसनीय श्रोत के जरिये बिक्री के लिये उपलब्ध सिक्के उपभोक्ताओं की पसंद बनते जा रहे हैं। उपभोक्ता दो ग्राम, पाँच ग्राम और दस ग्राम के सिक्कों को विशेष तरजीह दे रहे हैं। भारतीय स्वर्ण सिक्कों की बिक्री के लिए अभी इंडियन ओवरसीज बैंक, फेडरल बैंक, बिजया बैंक और येस बैंक की चुनिंदा शाखायें अधिकृत है। एमएमटीसी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक वेद प्रकाश ने कहा, कि हमने लांचिंग के बाद अबतक 185 किलोग्राम भारतीय स्वर्ण सिक्के बेच चुके हैं।
युद्ध के सौदागर मोदी देश को पाकिस्तान के साथ युद्ध जैसे हालात में धकेलना चाहते हैं : दिग्विजय
   शोध से इसके प्रति उपभोक्ताओं की दिलचस्पी का भी पता चलता है। सरकार द्वारा प्रायोजित होने के कारण इसकी गुणवत्ता विश्वसनीय है। एमएमटीसी के आउटलेटों के अलावा ये सिक्के चार बैंकों की शाखाओं पर भी उपलब्ध हैं। अभी करीब 200 शाखाएँ परिचालन में हैं और हमारा लक्ष्य इनकी संख्या बढ़ाना है। विश्व स्वर्ण परिषद के प्रबंध निदेशक (भारत) सोमसुंदरम पीआर ने कहा, कि वितरण विस्तृत होने से इन सिक्कों की माँग और बढ़ेगी तथा यह स्वर्ण निवेश का पसंदीदा जरिया बन जाएगा। यह अंतरराष्ट्रीय बास्केट में राष्ट्रीय स्वर्ण सिक्कों की कमी को भी पूरा करता है।दैनिक रॉयल unnamed
बुलेटिन की मोबाइलएप को डाउनलोड कीजिये….गूगल के प्लेस्टोर में जाकर
royal bulletin
टाइप करे और एप डाउनलोड करे..आप हमारी हिंदी न्यूज़ वेबसाइट
www.royalbulletin.com
और अंग्रेजी news वेबसाइटwww.royalbulletin.in को भी लाइक करे..कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव भी दें…info @royalbulletin.com पर

Share it
Top