रूट और मोइन की दमदार बल्लेबाजी से इंग्लैंड मजबूत

रूट और मोइन की दमदार बल्लेबाजी से इंग्लैंड मजबूत

england_cricketराजकोट। जो रूट (124) और मोइन अली (नाबाद 99) रन की दमदार बल्लेबाजी की बदौलत इंग्लैंड ने खराब शुरूआत से उबरते हुये भारत के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन बुधवार को दिन का खेल समाप्त होने तक चार विकेट पर 311 रन का मजबूत स्कोर बना लिया।
इंग्लैंड के कप्तान एलेस्टेयर कुक ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय किया और पहली पारी में दिन का खेल समाप्त होने तक 93 ओवर में चार विकेट के नुकसान पर 311 रन बना लिये। मोइन अली 99 और बेन स्टोक्स 19 रन बनाकर नाबाद क्रीज पर हैं और टीम के अभी छह विकेट सुरक्षित हैं। इंग्लैंड की पारी के पहले दिन तीसरे नंबर के बल्लेबाज 25 वर्षीय रूट ने अपनी जबरदस्त शतकीय पारी से टीम को सुबह की खराब शुरूआत से उबारा और एशियाई जमीन पर अपना पहला शतक भी बनाया। रूट ने 180 गेंदों की पारी में 11 चौके और एक छक्के की मदद से 124 रन बनाये। रूट ने ठीक चार वर्ष पहले नागपुर में अपना टेस्ट पदार्पण किया था और वह अब तक भारत के खिलाफ दो शतक ठोक चुके हैं। यह उनका टेस्ट में 11वां शतक है। रूट ने इंग्लैंड को ऐसे समय संभाला जब उसने सुबह अपने पहले तीन विकेट लंच तक 102 रन जोड़कर गंवा दिये थे और उस समय तक भारतीय गेंदबाजों ने मेहमान टीम के बल्लेबाजों को दबाव में ला दिया था। लंच के बाद रूट ने अपनी पारी की शुरूआत की और चायकाल तक बिना कोई विकेट गंवाये इंग्लैंड ने 209 रन जोड़ डाले। उन्होंने मोइन के साथ चौथे विकेट के लिये 179 रन की शतकीय साझेदारी कर अपनी टीम को पहले दिन 300 के पार पहुंचा दिया। लेकिन उमेश यादव ने 80वें ओवर में जाकर रूट से भारत को छुटकारा दिलवाया और उन्हें अपनी गेंद पर लपक लिया तथा इंग्लैंड का चौथा विकेट 281 के स्कोर पर गिराया। मोइन ने 192 गेंदों में नौ चौके लगाकर नाबाद 99 रन बनाये। वह अभी अपने टेस्ट करियर के चौथे शतक से मात्र एक रन दूर हैं। उनके साथ बेन स्टोक्स 41 गेंदों में दो चौके और एक छक्का लगाकर 19 रन पर नाबाद हैं। भारतीय गेंदबाज अच्छी शुरूआत को लंच के बाद जारी नहीं रख सके और अश्विन ने 31 ओवरों में 108 रन पर दो विकेट निकाले। तेज गेंदबाज उमेश यादव को 18.5 ओवर में 68 रन पर एक और रवींद्र जडेजा को 21 ओवर में 59 रन पर एक विकेट मिला। लेग स्पिनर अमित मिश्रा को 42 रन और मोहम्मद शमी को 31 रन पर कोई कामयाबी नहीं मिली। इससे पहले मैच में भारत ने अच्छी शुरूआत की थी और लंच से पहले उसके तीन विकेट निकालकर वह इंग्लैंड पर दबाव बनाने में कामयाब रहा। ओपनर तथा कप्तान एलेस्टेयर कुक को 21 रन के निजी स्कोर पर जडेजा ने पगबाधा कर इंग्लैंड का अहम विकेट निकाला। इसके बाद अनुभवी आफ स्पिनर अश्विन ने लंच से पहले दो विकेट निकाल लिये और इंग्लैंड ने 32.3 ओवर में 102 रन जोड़कर अपने तीन विकेट गंवा दिये। कप्तान कुक ने 47 गेंदों में दो चौके लगाकर 21 रन बनाये। उन्होंने पदार्पण खिलाड़ी हसीब हमीद के साथ पहले विकेट के लिये 47 रन जोड़े। हमीद ने 82 गेंदों में छह चौके लगाकर 31 रन बनाये। उन्हें अश्विन ने पगबाधा कर इंग्लैंड को दूसरा झटका दे दिया। इसके बाद बेन डकेट भी सस्ते में चलते बने और अश्विन ने उन्हें अजिंक्या रहाणे के हाथों कैच करा लंच से पहले पवेलियन भेज दिया। डकेट ने 17 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 13 रन बनाये। रूट हालांकि एक छोर पर टिके रहे और मोइन के साथ उन्होंने 48.2 ओवर में 179 रन की बड़ी शतकीय साझेदारी कर इंग्लैंड के स्कोर को 300 के पार पहुंचा दिया। दिन का खेल समाप्त होने से कुछ देर पहले ही यादव ने रूट का अहम विकेट लिया। रूट ने 72 गेंदों में 50 रन और 154 गेंदों में नौ चौके लगाकर अपने 100 रन पूरे किये। लेकिन इस साझेदारी के टूटने के बाद भी मोइन मैदान पर डटे रहे। उन्होंने 99 गेंदों में अपने 50 रन चार चौके लगाकर पूरे किये। वह स्टोक्स के साथ 30 रन की अविजित साझेदारी कर चुके हैं।

Share it
Top