रसोईघर में रहें सावधान

रसोईघर में रहें सावधान

घरों में गृहिणी सबसे महत्त्वपूर्ण पात्र है। रसोईघर में खाना बनाने से समेटने तक का कार्य गृहिणी स्वयं करती है। यहां तक कि खाना तैयार करने व परोसने का कार्य भी वह करती है। परोसा गया खाना कैसा है? स्वच्छ है या नहीं? कम से कम समय में खाना तैयार हो, आदि रसोईघर से संबंधित बातें गृहणियों के ध्यान में होना आवश्यक है। रोजाना जितना समय गृहिणी का रसोईघर में बीतता है उतना कहीं भी नहीं? रसोईघर को सुंदर, सुव्यवस्थित व सजी हुई रखना भी कुशल गृहिणी की पहचान है। यदि रसोईघर सुव्यवस्थित होगा, हर चीज करीने से सही स्थान पर रखी होगी तो आप खुद कई परेशानियों से बच सकती हैं व आने जाने वाली सहेलियों व मेहमानों पर भी आपके सुव्यवस्थित व सुंदर रसोईघर का अच्छा प्रभाव पड़ सकता है।
सावधानियां
– रसोईघर में हमेशा सूती कपड़े ही पहनें। टेरेलीन, नाइलोन, रेशमी कपड़े ताप के सुचालक होते हैं व आग को जल्दी पकड़ते हैं। साड़ी बांधकर काम कर रही हैं तो साड़ी का पल्लू नीचे न लटके, यह भी ध्यान रखें। पहने हुये सूती वस्त्र ज्यादा ढीले-ढाले न हों।
– गैस चूल्हा जलाने से पूर्व माचिस या लाइटर व अन्य सामग्री अपने पास एकत्र अवश्य कर लें।
दुनियां में चैन की नींद बड़ी समस्या है
– दालें, चावल आदि को चुनने बीनने का काम भोजन पकाते समय न करके भोजन पकाने के पूर्व ही करें।
– रसोईघर में हमेशा पैरों में फिसलने वाली चप्पलें या ऊंची एड़ी के सैंडिल न पहनें।
– कम सामग्री पकाने हेतु हमेशा छोटे बर्तनों का ही इस्तेमाल करें। इससे गैस की भी बचत होती है।
– खाद्ययुक्त सामग्री को हमेशा ढक कर ही रखें ताकि उनमें कीट, पतंगा या कोई जहरीली वस्तु न गिर सके।
– रसोई के मसाले व अन्य सामान हमेशा प्रमाणित कंपनियों या एगमार्क के ही इस्तेमाल करें।
– माचिस, मोमबत्ती या लैम्प को हमेशा एक ही स्थान पर रखें, ताकि अंधेरे में भी उसे ढूंढा जा सके।
– माचिस व लाईटर को हमेशा गैस चूल्हे के पास ही रखें ताकि बाद में ढूंढना न पड़े।
बढ़ते प्रदूषण से जूझती ट्रैफिक पुलिस
– रसोईघर की सभी आवश्यक वस्तुओं को व्यवस्थित ही रखें। इससे रसोईघर की सुन्दरता बढ़ेगी व सामान ढूंढने में भी परेशानी नहीं होगी।
– रसोईघर में कहीं भी सब्जी या चाय आदि वस्तु गिरने पर उस जगह पर गीले कपड़े का पोचा अवश्य लगा दें, ताकि वहां कोई दाग-धब्बा न रह सके व वहां मक्खियां भी न आ सकें।
– रसोईघर की खिड़कियों पर कभी परदे न लगायें क्योंकि बाहर से हवा तेज आने पर परदे के पास रखी वस्तुओं को गिरा सकते हैं या गैस से दुर्घटना भी हो सकती है।
– रसोईघर में खड़े-खड़े ज्यादा काम करने से आप थक भी सकती हैं, अत: बैठकर कार्य करने के लिए कोई ऊंचा स्टूल या कुर्सी अवश्य रखें।
– सिंक (जूठे बरतन धोने की जगह) में ज्यादा देर तक जूठे बरतन न रहने दें। इससे गंदगी फैलेगी।
– सिंक से पानी बाहर निकलने की समुचित व्यवस्था होनी चाहिए।
– विजय बवेजा

Share it
Share it
Share it
Top