योगी के कई मंत्री आईबी के रडार पर, प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी हुए निर्देश

योगी के कई मंत्री आईबी के रडार पर, प्रधानमंत्री कार्यालय से जारी हुए निर्देश





लखनऊ। कई सालों से देखा जा रहा है कि सरकार बदलते ही अधिकारियों की लॉबिंग शुरू हो जाती है और मलाईदार पदों पर तैनातगी के लिए तगड़ा खेल चलता है। योगी सरकार में भी ट्रांसफर, पोस्टिंग की ऑटो डीलिंग आम हो गई। यूपी सरकार की पीएमओ को उचित फीडबैक न मिलने के कारण योगी सरकार की छवि की निगरानी के लिए आईबी के अफसरों को जांच की जिम्मेदारी दे दी गई है।योगी के मंत्री अब आईबी के रडार पर आ गए हैं। पीएमओ से जारी हुए निर्देश में सीएम योगी के मंत्रियों की पड़ताल शुरू हो चुकी है। यूपी में भाजपा की सरकार आते ही भ्रष्ट मंत्रियों और नेताओं के लिए ट्रांसफर, पोस्टिंग की ऑटो डीलिंग आम हो गई।
 


http://www.royalbulletin.com/pm-modi-shakes-hands-with-chinese-president-xi-jinping-discuss-range-of-issues/

इसके ऐवज में मंत्री अपनी जेब भर रहे हैं। मगर निजी सचिव और अन्य करीबियों के जरिये मंत्री महकमें में कलस वन और टू अफसरों की पोस्टिंग के लिए रेट फिक्सिंग कर दिए हैं। योगी सरकार में बढे इस ट्रांसफर, पोस्टिंग के धंधे से तंग आ चुके अफसरों ने पीएम मोदी को इसकी शिकायत भी कर दी है। इस शिकायत में कहा गया है कि नई सरकार से स्वच्छ व्यवस्था की उम्मीद थी। पर मौक़ा देखते ही मंत्रियों ने लूट खसोट शुरू कर दिया है।  यह वही मंत्री हैं जो सपा और बसपा से दल बदलकर भाजपा में आये हैं।



Share it
Top