यूपी चुनाव को प्रभावित करने के लिए डम्प कराई जा रही नेपाली शराब..!

यूपी चुनाव को प्रभावित करने के लिए डम्प कराई जा रही नेपाली शराब..!

मतदाताओं को रिझाने की कोशिशें जारी हैं, ऐसे में शराब की खपत को देखते हुए नेपाली शराब को प्रदेश में खपाने का खेल भी चल रहा है। माना जा रहा है कि नेताओं की शह पर ही नेपाल से सस्ते दर पर शराब की खरीददारी की जा रही है और सूबे में जरूरत के समय खपत की जाएगी। स्थिति यह है कि सीमाई क्षेत्रों में अभी से अवैध शराब की खेप जमा करना शुरू हो गया है। सूत्रों का कहना है कि यूपी चुनाव में शामिल कुछ नेताओं और उनके समर्थकों से ऑर्डर मिलाने का बाद नेपाली शराब नेपालियों के घरों में डम्प कराये जा रहे हैं। डंप किया जा रहा यह शराब यूपी विधानसभा चुनाव के चुनाव में उपयोग किया जायेगा। इस शराब को महेशपुर, भुजहवा, गेरमा होते हुए भारतीय क्षेत्रो में पंहुचाने की तैयारी है। जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए नवल परासी के रामपुरवा, सुनरी, हरपुर, महेशपुर, भुजहवा और गेरमा में नेपाली शराब डम्प कराये जा रहे हैं।
आय से अधिक संपत्ति मामले में शशिकला को चार साल की सजा..सीएम बनने का सपना टूटा
इन्हें आम लोगों के घरों में इकट्ठा किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि ऐसा उत्तर प्रदेश चुनाव को देखते हुए कुछ पार्टियों के नेताओं से ऑर्डर मिलाने के बाद किया जा रहा है कम पैसे खर्च कर ही वोटर्स तक पहुंचाएंगे शराब बता दें कि चुनाव में वोटर्स को लुभाने के लिए पार्टियां अनेक तरह के हथकंडे अपनातीं हैं। इनमे शराब पिलाकर भी वोट हासिल करने का प्रयास होता है। लेकिन चुनाव आचार संहिता लगाने की वजह से अवैध शराब बिक्री पर पाबंदी लगा दी जाती है। इससे उम्मीदवारों को वोटर्स को लुभाने का यह तरीका कमजोर पड़ जाता है। ऐसे में पार्टियों के नेता नेपाली शराब का सहारा लेते हैं। जानकारों का मानना है कि नेपाली शराब सस्ती होती है और इसलिए यूपी के नेता काम पैसे खर्च कर ही वोटर्स को लुभाने में सफल होते हैं। यही वजह है कि नेपाली शराब को यूपी सीमा के बाहर भेजा जाता है। डंप किये गए नेपाली शराब को समय-समय पर वोटर्स तक इसे पहुँचाने का प्रयास करते हैं।

Share it
Share it
Share it
Top