युवा फिटनेस का एेसे रखें ध्यान..!

युवा फिटनेस का एेसे रखें ध्यान..!

 शारीरिक फिटनेस हालांकि अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है किंतु ऐसा भी नहीं होना चाहिए कि आप फिटनेस को लेकर आब्सेशन ही पाल लें, फिटनेस मेनिक बन जाए और एक खूबसूरत जिंदगी को बोझिल, तनावग्रस्त एवं उबाऊ बना डालें। अपने मेनिया के चलते घर वालों के लिए मुसीबत बन जाएं। आज के युवा फिटनेस को भी फैशन ही मानकर चलते हैं बगैर समझें कि फिट रहना क्यों जरूरी है। बस दूसरों की देखा देखी चल पड़ते हैं एक भेड़ चाल। वे व्यायाम तो खूब कर लेते हैं लेकिन उचित रूप में नहीं।
व्यायाम कोई ऐसी चीज नहीं है जिसे अंधाधुंध कोई भी, कभी और कितना भी करें, वो कारगर ही सिद्ध होगा बल्कि व्यायाम करने के भी कुछ तरीके हैं, कुछ नियम हैं जिनको फालो करके चलें, तभी व्यायाम कारगर होगा। इससे मांसपेशियां मजबूत और लचीली बनती हैं, शरीर में चुस्ती फुर्ती आती है और जड़ता और तनाव दूर होते हैं। यह तन पर ही नहीं बल्कि मन पर भी अनुकूल प्रभाव डालता है। अगर आप फिट हैं, चुस्त हैं, स्वस्थ हैं तो कोई भी गोल प्राप्त करना आपके लिए मुश्किल नहीं होगा। कठिनाइयों को भी आप आसानी से पार कर पायेंगे।
अगर इच्छा शक्ति प्रबल हो तो कुछ भी असाध्य नहीं। समय भी निकल आयेगा और आलस्य पर विजय भी पाई जा सकती है। अपने प्रेरक आप स्वयं बनें। किसी और का मुंह मत देखिए। खुद के दोस्त बन कर स्वयं को यह सलाह दें कि स्वस्थ रहना है तो व्यायाम में कोताही नहीं चलेगी। एक वक्त खाना भले ही मत खाएं लेकिन व्यायाम न करने का कोई बहाना नहीं चलेगा। बस आदत डालने की बात है। आपको खुद इसमें नागा करना अच्छा नहीं लगेगा।
डायटिंग नो नो:-
डायटिंग का मंत्र आपके लिए नहीं है। मोटे युवक युवतियां अदनान सामी, सोनम कपूर को अपनी प्रेरणा मानकर भूखे रहना शुरू कर दें तो वह उनके हक में अच्छा नहीं होगा। यह शरीर के लिए घातक है। पोषक तत्वों की कमी शरीर में दूसरी प्राब्लम्स पैदा कर देती है, अत: संतुलित भोजन लें। वजन नियंत्रण में रहेगा। जहां दूध, दही, फल सब्जी, दाल-रोटी सेहतमंद बने रहने के लिए जरूरी है, वहीं तेल वाले, घी से भरपूर, चिकनाई युक्त हाई कैलोरी फूड सेहत के दुश्मन माने जाते हैं। इनसे मोटापा बढ़ता है और मोटापे से जुड़ी बीमारियां घेर लेती हैं। पानी पीने में कोताही न बरतें। दिन भर में कम से कम छ: से आठ गिलास पानी तो जरूर पिएं। जूस अगर माफिक आता हो, तभी पिएं।
आज के युवा, युवतियों में मोटापा बढ़ता जा रहा है। मोटे होने के कारण स्पष्ट हैं, उनका अपने कंप्यूटर और प्लेस्टेशन के साथ वयस्त रहना। उनका मोटापा उनकी शाही लाइफ की देन है। वे घंटों कंप्यूटर से चिपके बैठे रहते हैं। कई वक्त बेवक्त टी.वी. पर ऊल जलूल प्रोग्राम देखते काउच पटेटो बन समय बर्बाद करते हैं। इस उम्र में जबकि उन्हें आउटडोर गेम्स खेलने चाहिए, वे घर की चारदीवारी में कैद कंप्यूटर क्लिक कर रहे होते हैं। बैठे बैठे बीच-बीच में स्नैक्स वगैरह खाते रहते हैं। कैलोरीज आखिर बर्न हों तो कैसे। चर्बी जमा होती रहती है और नतीजा है मोटापा।
सरदार:- शर्ट के लिये कपड़ा दिखाना..!!

आज के युवाओं में कार, बाइक, स्कूटर चलाने का शौक इतना बढ़ गया है कि अब वे पैदल चलने को बिलकुल तैयार नहीं। जरा सी दूर भी जाना हो तो झट से कार या मोटरबाइक निकाल लेंगे। साधारण साइकिल चलाना तो उन्हें अपनी प्रेस्टीज के खिलाफ लगता है। एस्केलेटर, लिफ्ट आदि जहां बुजुर्गों के लिए वरदान हैं, युवाओं को जरूरी व्यायाम से महरूम कर देते हैं जबकि सभी जानते हैं कि सीढिय़ां चढऩा उतरना एक बहुत अच्छा व्यायाम है।
कुछ युवा जो दुबले पतले हैं, यह सोचकर कि हमें व्यायाम की क्या जरूरत है, व्यायाम करने की सोचते ही नहीं। कुछ घर वाले इस कोशिश में रहते हैं कि उनके लाड़ले- लाड़लियों को हाथ भी न हिलाना पड़े। वे इसी को लाड़ प्यार समझते हैं लेकिन यह सरासर गलत है। दुबले युवक युवतियों के लिए व्यायाम उतना ही जरूरी है जितना कि मोटे लोगों के लिए। ओवर आल फिट रहने के लिए महज 10 मिनट का व्यायाम जरा भी मुश्किल नहीं है। इसक अलावा घर के छोटे मोटे कार्य करते रहने की आदत हमेशा फायदा ही देती है। इससे एक तो आप आत्मनिर्भर बनते हैं जो एक मुकम्मल व्यक्तित्व के लिए जरूरी है, दूसरे शरीर तंदुरूस्त रहता है और तनाव से भी मुक्ति मिलती है।
आधे घंटे की तैराकी से 350 कैलोरी खर्च होती है। इसी तरह साइकिलिंग से 400 कैलोरी खर्च होती है। तेज रफ्तार की सैर 150 कैलोरी बर्न कर सकती है। नृत्य भी व्यायाम का अच्छा विकल्प है। इसी तरह एरोबिक्स, योग कुछ भी आजमाया जा सकता है।
आज के युवा जंक फूड, तले-भुने या चिकनाईयुक्त भोजन के शौकीन हैं और एक सेडेन्ट्री लाइफ गुजारते हैं, जरा भी हाथ पैर हिलाना- डुलाना नहीं चाहते, वे अपने लिए कई तरह की बीमारियों जैसे पाचन की गड़बड़ी, मोटापा, हाई ब्लडप्रेशर, दिल के रोग को नियंत्रण देते हैं।
खाने का कंट्रोल सबसे जरूरी है। जंकफूड, कोल्ड डिंक्स तथा हाई कैलोरी फूड का सेवन कम करें। अधिक पानी पीकर भूख कम की जा सकती है। इसके लिए खाने से पहले एक गिलास पानी पीना ठीक रहेगा लेकिन कोल्ड डिंक्स अवॉयड करें। खाने में हरी सब्जियां जरूर शामिल करें रेशेदार पदार्थ पाचन शक्ति के लिए अच्छे होते हैं।
भूख से कम खायें। खाने के बाद थोड़ा और खाने की गुंजाइश रखें। अगर दो चपाती खाते हों तो स्वाद या किसी के इसरार के कारण उसे तीन न करें। रात का खाना लेट न खायें। खाते ही सो जाना मोटापा और बढ़ाता है।
बदन में चुस्ती-फुर्ती रखें। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा सैर, वर्जिश और जितना हो सके, गृहकार्य इत्यादि स्वयं करें। स्लिमिंग ड्रग्स के नुकसानों को देखते हुए अच्छा यही होगा कि प्राकृतिक उपायों द्वारा मोटापा कम किया जाए। जरूरत है तीव्र इच्छा शक्ति और लक्ष्य सामने रखने की। स्लिमिंग ड्रग्स न केवल भूख मारती हैं बल्कि शरीर की कोशिकाओं को भी नुकसान पहुंचाती हैं। पाचन क्रिया सुस्त करती है, कभी कभी इनसे लिवर भी डैमेज हो सकता है। इसके अलावा डायरिया व किडनी के रोग हो सकते हैं।
डाक्टरों व फिटनेस विशेषज्ञों का कहना है कि युवा अपने खान-पान व जीवनशैली में कुछ परिवर्तन करके हमेशा फिट व चुस्त-दुरूस्त रह सकते हैं जेसे
इलाज से परहेज आसान है… कैंसर जैसी भयंकर बीमारी से बचने के लिए..!

– प्रतिदिन समयानुसार भोजन करें तथा सुबह का नाश्ता, दोपहर का भोजन तथा रात्रि के भोजन में समान अंतर अवश्य रखें। यदि आपको सारा दिन कुछ न कुछ खाने की आदत है तो जितना जल्दी हो सके। अपनी इस आदत से विदा लीजिए।
– मोटापा यदि बढ़ जाये तो भूल कर भी खाने पीने का त्याग न करें क्योंकि इससे आपके शरीर में पोषक तत्वों की कभी आ जाएगी।
– अपने भोजन में मांसाहार के बजाय यदि आप शाकाहार को अपनाये तो आपको मोटापे को मार कम झेलनी पड़ेगी।
– मलाई, रबड़ी, केक, पेस्ट्री, आईसक्रीम, मावे की मिठाइयों का प्रयोग कम से कम करें।
– एक गिलास पानी में नींबू निचोड़ कर सुबह-सुबह पिएं। इससे आपका मोटापा नियंत्रण में रहेगा।
– अपने भोजन में फास्ट फूड व कोल्ड डिंक्स का प्रयोग यदाकदा ही करें व भोजन में साबुत अनाज, साबुत दालों तथा रेशेदार फल तथा सब्जियों को अधिकाधिक स्थान दे।
– कार्य करते समय शारीरिक श्रम प्रधान कार्यों को प्राथमिकता दें।
– अपनी जीवन शैली में शारीरिक व्यायाम, योगा, प्राणायाम तथा मार्निंग वाक को स्थान दें।
-अक्षय जैन

Share it
Share it
Share it
Top