यात्री वाहनों की बिक्री 8.63 प्रतिशत बढ़ी

यात्री वाहनों की बिक्री 8.63 प्रतिशत बढ़ी

नई दिल्ली। ब्याज दरों में नरमी के साथ ही नोटबंदी के बाद अर्थव्यवस्था में आ रही तेजी के बल पर इस वर्ष मई में यात्री वाहनों की बिक्री में 8.63 प्रतिशत और दोपहिया वाहनों की बिक्री में 11.89 प्रतिशत की बढोतरी दर्ज की गयी है। वाहन निर्माता कंपनियों के शीर्ष संगठन सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (सियाम) के अनुसार पिछले महीने की बिक्री अब तक मई महीने में सबसे बेहतर रही है। इस महीने में देश में 251642 यात्री वाहनों की बिक्री हुयी जबकि पिछले वर्ष इसी महीने में यह संख्या 231640 रही थी। मई 2017 में कुल मिलाकर 166630 कारों की बिक्री हुयी जो पिछले वर्ष इसी महीने में बेची गयी 158996 कारों की तुलना में 4.8 प्रतिशत अधिक है। इस महीने में देश में कुल मिलाकर 1694325 दोपहिया वाहनों की बिक्री हुई जो मई 2016 में बेचे गये 1514334 वाहनों की तुलना में 11.89 प्रतिशत अधिक है। मई 2017 में देश में 563326 स्कूटरों की बिक्री हुयी जो पिछले वर्ष मई में बेचे गये 454213 स्कूटरों की तुलना में 24.02 प्रतिशत अधिक है। मोटरसाइकिलों की बिक्री में भी तेजी रही है लेकिन यह स्कूटरों की तुलना में बहुत कम है। हालांकि मई में देश में 10 लाख से अधिक मोटरसाइकिलों की बिक्री हुयी है। पिछले वर्ष मई में 984715 मोटरसाइकिल बेची गयी थी, जो इस वर्ष 7.72 प्रतिशत बढ़कर 1060746 मोटरसाइकिल हो गयी। इस दौरान हालांकि मोपेड की बिक्री में गिरावट दर्ज की गयी है। मई 2016 में 75406 मोपेड बिकी थी जो इस वर्ष 6.83 प्रतिशत घटकर 70253 रह गयी।
सियाम के महानिदेशक विष्णु माथुर ने आज यहां वाहन बिक्री के आंकड़े जारी करने के दौरान संवादादताओं से कहा कि मई में यात्री वाहनों की बिक्री अब तक इस महीने की बिक्री में बेहतर रही है। यूटिलिटी वाहनों के साथ ही कारों की बिक्री में भी तेजी रही है। उन्होंने कहा कि नये मॉडलों की पेशकश के साथ ही यूटिलिटी वाहनों और कॉम्पेक्ट एसयूवी की मांग की वजह से मई में यात्री वाहनों का प्रदर्शन शानदार रहा है। मई में 69,845 यूटिलिटी वाहन बिके हैं, जो पिछले वर्ष इसी महीने के 58,793 वाहनों की तुलना में 18.8 प्रतिशत अधिक है। मारूति विटारा, ब्रीजा और हुंडई क्रेटा की मांग से इस श्रेणी के वाहनों की बिक्री में तेजी बनी हुई है। श्री माथुर ने कहा कि यात्री वाहनों की बिक्री में आने वाले महीने में भी तेजी बने रहने की उम्मीद है क्योंकि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के लागू होने के साथ ही मानसून के इस वर्ष सामान्य रहने का अनुमान जताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हालांकि बिक्री में तेजी रहने के बावजूद यात्री वाहनों की बिक्री में इस वर्ष 10 फीसदी की बढोतरी का अनुमान है।
कार बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी मारूति सुजुकी ने मई 2017 में 1,30,248 यात्री वाहनों की बिक्री की जो पिछले वर्ष इसी महीने में बेचे गये वाहनों की तुलना में 15.10 प्रतिशत अधिक है। इस दौरान महिंद्रा एंड महिंद्रा ने 20,270 वाहनों की बिक्री की जो मई 2016 की तुलना में 3.23 प्रतिशत अधिक है। टाटा मोटर्स ने मई 2017 में होंडा कार्स इंडिया को पछाड़ते हुये 12,499 यात्री वाहनों की बिक्री की जो पिछले वर्ष मई में बेेचे गये वाहनों की तुलना में 32.18 प्रतिशत अधिक है। होंडा कार्स ने इस दौरान 11,278 वाहनों की बिक्री जो मई 2017 की तुलना में 13.3 प्रतिशत अधिक है। मई में व्यावसायिक वाहनों की बिक्री में 6.36 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी है। पिछले वर्ष मई में 57,089 व्यावसायिक वाहन बिके थे जो इस वर्ष घटकर 53,457 रह गये। सियाम के उप महानिदेशक सुगातो सेन ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में नोटबंदी के बाद तेजी से सुधार हुआ है और इससे वाहनों की मांग में भी बढोतरी हुयी है।

Share it
Top