मोरना में स्पेनिश कृषि विशेषज्ञ ने जैविक खेती की जानकारी ली

मोरना में स्पेनिश कृषि विशेषज्ञ ने जैविक खेती की जानकारी ली

mornaमोरना। विश्व में जैविक कृषि पर शोध व निगरानी कर रहे स्पेनिश कृषि अनुसंधान की महिला अध्यापिका व शोधकर्ता लेड़ी ऐस्थी ने ग्राम बेहड़ा सादात स्थित ओर्गेनिक फार्म पर पहुंचकर जैविक कृषि पर आधारित फसलों का निरीक्षण कर उपयोगी जानकारी दी। विश्व के 78 देशों में कार्यरत किसान संगठन लाविया कम्पेसनिया के सदस्य भारतीय किसान यूनियन की निगरानी में स्पेन देश की बिलबाओ सिटी से भारत भ्रमण पर आई लेड़ी ऐस्थी ने ग्राम बेहड़ा सादात में चौ. उदयवीर सिंह के ऑर्गेनिक फार्म पर पहुंचकर जैविक फसलों में टमाटर, जरवेरा, खीरा आदि फसलों का निरीक्षण करते हुए बताया कि उन्होंने पाया कि भारत में मिश्रित खेती का अभाव है।
नोटबंदी पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, केंद्र से पूछा, नोटबंदी से क्या लाभ..कब सुधरेंगे हालात
एक ही स्थान पर विभिन्न प्रकार की फसलों को एक साथ उगाने से किसान को अधिक लाभ होता है। ऑर्गेनिक कृषि को पूर्ण रूप से ऑर्गेनिक किए जाने से वह हानिरहित रहती है। ऑर्गेनिक कृषि में कम लागत से अधिक उत्पादन कर विश्व में किसान की हालत को बेहतर किया जा सकता है। ऐस्थी ने आगे बताया कि वह भारत के कर्नाटक, महाराष्ट्र, केरल आदि राज्यों में जाकर जैविक खेती का निरीक्षण करेंगी। ऐस्थी के साथ भाकियू नेता राकेश टिकैत की पुत्री ज्योति, शिवंागी, अशोक वालिया, पवन राठी, सुधीर राठी, उदयवीर सिंह आदि उपस्थित रहे।
add-royal-copy

Share it
Share it
Share it
Top