मोदी के केन्द्र की सत्ता में आने के बाद विकास की एक नई इबारत लिखी गई:योगी

मोदी के केन्द्र की सत्ता में आने के बाद विकास की एक नई इबारत लिखी गई:योगी






मोदी के केन्द्र की सत्ता में आने के बाद विकास की एक नई इबारत लिखी गई:योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र की सरकार के सत्ता में आने के बाद विकास की एक नई इबारत लिखी गयी है और अपनी नीतियों के चलते सरकार जन विश्वास की कटौती पर खरी उतरी है। मुख्यमंत्री  यहां इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में उदय महुरकर द्वारा लिखित पुस्तक ‘मार्चिंग विद अ बिलियन: एनालाइजिंग नरेन्द्र मोदीज़ गवर्नमेण्ट एट मिड टर्म’ के विमोचन अवसर पर आयोजित समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।
उन्होंने  महुरकर को पुस्तक लेखन के लिए बधाई और शुभकानाएं देते हुए कहा कि यह पुस्तक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में चल रही केन्द्र सरकार के ढाई-तीन वर्षाें के कार्यकाल का विश्लेषण प्रस्तुत करती है। उन्होंने कहा कि लेखक अपनी लेखनी के माध्यम से समाज की ज्वलंत समस्याओं का समाधान कर समाज को नई दिशा दिखाता है ऐसे में उन्हें सामाजिक समर्थन और प्रोत्साहन दिया जाना जरूरी है।

http://www.royalbulletin.com/बसपा-के-खाते-का-ब्योरा-देन/

उन्होंने कहा कि मोदी के सार्वजनिक जीवन में आने के बाद उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर देश-विदेश में ढाई से अधिक पुस्तकें लिखी गयी हैं। प्रधानमंत्री कई लेखकों के प्रेरणास्रोत रहे हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 के पहले देश में अराजकता और अव्यवस्था की स्थिति थी। लोगों का विश्वास राजनीति और राजनीतिक व्यक्तियों में नहीं रह गया था। देश का आर्थिक विकास रुक गया था।



उन्होंने कहा कि गत 26 मई 2014 को  मोदी के नेतृत्व में केन्द्र की सरकार के सत्ता में आने के बाद विकास की एक नई इबारत लिखी गयी। विदेशों में भारत और मोदी का सम्मान बढ़ा। उन्होंने कहा मोदी की हाल की अमरिका और इजराईल की यात्रा इस बात का प्रमाण है कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश के 125 करोड़ लोगों का सम्मान बढ़ा है।



केन्द्र सरकार अपनी नीतियों के चलते जन विश्वास की कसौटी पर खरी उतरी है और उसने भारत का खोया हुआ गौरव स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि इसके पहले राष्ट्र के विकास और प्रगति की तुलना में वोट बैंक की राजनीति महत्वपूर्ण हुआ करती थी, जबकि वर्ष 2014 के बाद केन्द्र सरकार की नीतियां लोक लुभावन न होकर लोक कल्याण की भावना से प्रेरित रही हैं।



Share it
Top